मौत के तीन महीने बाद सऊदी अरब से घर पहुंचा युवक का शव

0
80

अखण्डनगर/सुलतानपुर(ब्यूरो)- जिले के एक युवक की सऊदी अरब में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई| मौत के तीन महीने बाद जब उसका शव जब गांव पहुंचा तो परिजनों में कोहराम मच गया। पिछले ढाई महीने से परिजनों ने शव को मंगाने के लिये लखनऊ और दिल्ली के चक्कर लगाए, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। इसके बाद एक सामाजिक कार्यकर्ता की मदद से शव भारत आ सका|

अखंडनगर थाना क्षेत्र के महमदपुर गांव के रहने वाले रघुनन्दन का बड़ा बेटा सुरेन्द्र रोजी राटी की तलाश में तीन साल पहले सऊदी अरब गया था। वह दम्माम शहर के मुतलक बिन नासिर के यहां खाना पकाने का काम करता था। करीब दो साल रहकर वह जुलाई 2016 में छुट्टी पर वापस घर लौटा था। चार महीने की छुट्टी के बाद सुरेन्दर नवम्बर 2016 को दम्माम लौट गया। 31 मार्च को उसकी पत्नी के पास अचानक एक फोन आया और सुरेन्द्र की मौत की खबर दी। मौत की खबर सुनकर घर में कोहराम मच गया। परिजनों ने फोन पर सुरेन्दर के मालिक से बात करने की तमाम कोशिशें की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। किसी तरह सुरेन्द्र के कफील से बात हुई तो उसने बताया कि सुरेन्दर दम्माम के एक गांव में था और उसके ऊपर आकाशीय बिजली गिर जाने से मौत हो गई। इसके बाद परेशान परिजनों ने शव को जल्द से जल्द मंगाने के लिये दौड़ भाग शुरू की लेकिन इन्हे निराशा हाथ लगी। तब जाकर इन्होंने अपने क्षेत्र के एक सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल हक की मदद ली। अब्दुल हक ने एम्बेसी से लगाकर तमाम दौड भाग की और शव मंगवा लिया।

रिपोर्ट- दीपक मिश्रा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY