भदोही : मंडप में दूल्हा हुआ बेहोश, दुल्हन ने नहीँ लिए सात फेरे

0
149

भदोही(ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश के भदोही जिले के अभोली गाँव में बुधवार को शादी के मंडप में दूल्हे को चक्कर आने एवं गिरने की वजह से दुल्लहन एवं परिजनों ने शादी से इनकार कर दिया। आरोप है कि दुल्हन के घर वालों ने बारातियों को बंधक भी बना लिया। बाद में दुल्हे के पिता की तरफ़ से दहेज में ली गई बाइक के साथ खर्च की गई सारी रकम वापस करने के बाद परिजनों को मुक्त किया गया। उधर दुल्हा सात फेरे लिए बगैर बैरंग लौटा । दुल्हन के परिजनों का आरोप था कि दूल्हे को दौरे का मर्ज है, परिजन छुपा कर शादी कर रहे थे  हालांकि पुलिस ने इस तरह की जानकारी होने से इंकार किया है क्योंकि पुलिस तक मामला नहीँ पहुँचा।

जिले के सुरियावा थाने के हरीपुर (कीर्तिपुर) गाँव निवासी हीरा गौतम के पोते एवं हरिश्चंद्र गौतम के बेटे विनय (21) की बारात बुधवार को दुर्गागंज थाने के अभोली गाँव की दलित बस्ती में जहपट गौतम के यहाँ गई थी । यहाँ उसकी बेटी का विवाह विनय से पूर्व में तय रहा । द्वारचार की रस्म पूरी हो गई थी । बाराती खान-पान कर रहे थे । उधर विवाह मंडप में चढ़ाव की रस्म पूरी की जा रहीं थी । उसी दौरान दूल्हे विनय को चक्कर आ गया और वह मंडप में गिर गया ।

इस घटना के बाद दुल्हन के पिता जहपट और परिजनों का गुस्सा बढ़ गया । लड़की वालों ने आरोप लगाया की दूल्हे को दौरे का मर्ज है, हम अपनी बेटी की शादी किसी भी कीमत पर नहीँ करेंगे। लड़के वालों ने ऐसी किसी बात से इंकार किया और दुल्हन के घरवालों को समझाने की पूरी कोशिश की लेकिन बात नहीँ बनी। बाद में दूल्हे के परिजनों को दुल्हन के घरवालों ने बंधक बना लिया । दोनों तरफ़ के कुछ लोगों के हस्तक्षेप के बाद आपस में समझौता हुआ।  जिसमें दहेज में दी गई बाइक की वापसी और 40 हजार नगद लेने के बाद दुल्हन के परिजनों ने दूल्हे के परिजनों और बारातियों को मुक्त किया । ऐसी स्थिति में दूल्हे को बगैर सादी के बैरंग लौटना पड़ा ।

इसी तरह सुरियावा थाने के परऊपुर गाँव में प्रतापगढ़ के अंतू से बारात आई थी। यहाँ डीजे पर डांस करने को लेकर घरातियों और दूल्हे के भाई से विवाद हो गया । बात काफी आगे बढ़ गई । बाद में मामला सुरियावा थाने तक पहुँच गया। पुलिस के हस्तक्षेप और समझाने के बाद शादी सम्पन्न हुई।

रिपोर्ट- रामकृष्ण पाण्ड़ेय

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY