सगे भाई ही करते थे दुराचार, सबूत के आभाव में कोर्ट ने किया बरी

0
422

सुल्तानपुर(ब्यूरो)- भाई-बहन के रिश्तों को दागदार कर सगी बहन के साथ दुष्कर्म करने एवं गर्भपात कराने के मामले में भाई व सहआरोपी मां-बाप समेत सात आरोपियों को अदालत ने साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया है।जबकि दूसरे भाई के किशोर होने के चलते उसका विचारण किशोर न्यायालय में चल रहा है।

मामला जयसिंहपुर थाना क्षेत्र का है। जहां की रहने वाली एक युवती ने 29 मार्च 2015 को मुकदमा दर्ज कराया।उसके आरोप के मुताबिक शिकायत करने के करीब 2 साल पहले से ही उसके सगे भाई नितिन, सचिन उसके साथ जबरन दुष्कर्म करते थे, इस दौरान वह गर्भवती भी हो गई। इस बात की जानकारी उसने अपने मां-अनीता व पिता-अवधेश को भी दिया तो मां-बाप व ताई कृष्ण कुमारी ने मामले को न उठाने के लिए लड़की पर दबाव बनाया।

आरोप के मुताबिक अंबेडकरनगर के समरसिंहपुर की रहने वाली नर्स पूनम सिंह की मदद से पीड़िता का गर्भपात भी कराया गया। इसके बाद भी सगे भाइयों के अपराध का क्रम जारी रहा और दुबारा भी गर्भवती हो गई तो सेमरी-जयसिंहपुर की रहने वाली माया अधिकारी व उसके बेटे आशीष अधिकारी ने दोबारा गर्भपात किया।

इस घटना से परेशान होकर पीड़िता ने आत्महत्या का भी प्रयास किया, फिलहाल पास पड़ोस के लोगों के आने पर उसकी जान बची। घर से बाहर निकलने पर लोगो ने उसे हिम्मत बंधाई तो उसने आरोपी सगे भाइयों समेत अन्य पर मुकदमा दर्ज कराया। मुकदमा दर्ज होने के बाद यह मामला भी उस दौरान काफी चर्चित रहा और लोग पीड़िता की यह दास्तां सुनकर निश्चित तौर पर आरोपियो को सजा मिलने का अंदेशा लगा रहा थे, पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र भी दाखिल किया। लेकिन मामले के विचारण के दौरान पीड़िता समेत तीन गवाह पक्षद्रोही घोषित हो गए, जिन्होंने आरोपियों के खिलाफ बयान ही नहीं दिया। अभियोजन पक्ष ने गवाहों के पक्षद्रोही घोषित होने के बावजूद अन्य साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों को दंडित किए जाने की मांग की। दोनों पक्षों को सुनने के पश्चात स्पेशल जज/अपर जिला जज प्रथम ने साक्ष्य के अभाव में दुष्कर्म आरोपी भाई नितिन समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ आरोप न साबित होने के चलते उन्हें बरी कर दिया है, जबकि आरोपी भाई सचिन के बाल अपचारी होने के चलते उसका विचारण किशोर न्यायालय में चल रहा है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here