चमोली: बस खाई में गिरी, दो की मौत व 33 घायल

0
105

चमोली/उत्तराखंड(राज्य ब्यूरो)- कर्णप्रयाग के पास शक्तिनगर के पास यात्रियों से बस सड़क से 20 मीटर नीचे जा गिरी। बस में सवार दो गंभीर रूप से घायल यात्रियों ने अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। बस में सवार सभी 35 यात्री महाराष्ट्र के निवासी हैं। अन्य घायलों को पुलिस की मदद से कर्णप्रयाग अस्पताल पहुंचाया जा रहा है। एनडीआरफ के जवान घायलों को रेस्क्यु कर रहे हैं।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बस के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद सूचना पर पुलिस और एनडीआरएफ के जवान घायल यात्रियों को रेस्क्यू करने जुट गये। पुलिस के साथ साथ स्थानीय लोग भी सहयोग कर रहे हैं। पुलिस और एनडीआरएफ के जवानों के पहुंचने से पहले स्थानीय लोग राहत और बचाव कार्य में जुट गये थे।

महाराष्ट्र निवासी यात्री बद्रीनाथ से दर्शन कर लौट रहे थे। ड्राइवर अचानक बस से नियंत्रण खो बैठा और बस सड़क से करीब 20 मीटर नीचे खाई में जा गिरी है। बताया जा रहा है रूपकुंड ट्रेवल की बस न. UA 11 PA 0040 में यात्री सुबह बदरीनाथ के दर्शन कर ऋषिकेश के लिए चले थे। जो कर्णप्रयाग के पास दुर्घटग्रस्त हो गई। यह गनीमत रहा कि बस ने एक और पटला नहीं खाया। अगर ऐसा होता तो नीचे लोगों के घरों के ऊपर से होते हुए बस सीधे अलकनन्दा में जा गिरती। बस के नदी में गिरने से जानमाल का अधिक नुकसान होता। बस में कुल 34-35 यात्री सवार थे, वे सभी घायल हैं।

विदित रहे कि यात्रा सीजन शुरू होने के बाद कई सड़क हादसे हो चुके हैं। जिसमें करी 35-40 लोग जान से हाथ धो बैठे, इससे पहले उत्तरकाशी के डुण्ड में हुई बस दुर्घटना में मध्य प्रदेश के इंदौर के 21 लोगों को मौत हो गई थी। इस तरह से चारधाम यात्रा शुरू होने तीन दिन ही टिहरी गढ़वाल के घनसाली क्षेत्र में एक यात्री वाहन के दुर्घनाग्रस्त होने से दो लोगों की जान चली गई थी। हर कई यात्री सीजन में कई कमियों के कारण सड़क हादसे होते हैं। हादसे के कारणों की जांच होती है। रिपोर्ट शासन को भेजी जाती है। लेकिन रिपोर्ट में दर्शायी गई कमियों को दूर करने के लिए क्या उपाय किये जाते हैं। यह किसी को पता नहीं चलता और अगले साल फिर वही हादसों का दौर शुरू हो जाता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY