केंद्रीय जल आयोग के अध्यक्ष ने ‘इंटर-लिंकिंग ऑफ इंडियन रिवर्स’ पुस्तक का विमोचन किया |

0
134

The Chairman, Central Water Commission, Shri A.B. Pandya releasing a book titled “Inter-Linking of Indian Rivers”, written by Shri R.K. Bharti, in New Delhi on November 03, 2015.

केंद्रीय जल आयोग के अध्यक्ष श्री ए बी पंड्या ने कहा कि जल संबंधी विभिन्न समस्याओं का हल नदियों को एक-दूसरे से जोड़ कर किया जा सकता है। आज यहां एक पुस्तक के विमोचन समारोह में श्री पंड्या ने कहा कि हमारी भौगोलिक सीमाओं के अंदर उपलब्ध जल संसाधनों का प्रबंधन बहुत जरूरी है। उन्होंने देश के जल संसाधनों पर चर्चा करते हुए कहा कि आमतौर पर यह माना जाता है कि उष्णकटिबंधीय मानसून वाले देशों में प्रचुर मात्रा में जल उपलब्ध होता है, लेकिन यह गलत धारणा है। उन्होंने कहा कि अच्छे मानसून के दौरान भी देश के कुछ भागों में अनियमित वर्षा होने के कारण पानी की कमी हो जाती है।

इसके पूर्व श्री पंड्या ने जल संसाधन की एक पत्रिका ‘भगीरथ’ के पूर्व संपादक श्री राधा कांत भारती द्वारा लिखित ‘इंटर-लिंकिंग ऑफ इंडियन रिवर्स’ पुस्तक का विमोचन किया। इस पुस्तक को लोटस प्रेस ने प्रकाशित किया है।

पुस्तक के लेखक ने कहा कि उन्होंने अपनी पुस्तक में इस विषय पर टेक्नोक्रेट, पत्रकारों और राजनेताओं के विभिन्न विचारों को प्रस्तुत करने का अकिंचन प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि इस पुस्तक में भारत में नदियों को आपस में जोड़ने की समस्याओं और सभावनाओं के बारे में चर्चा की गई है।

Source – PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

5 × 3 =