मंदबुद्धि किशोर के लिए बाल गृह में नहीं है जगह तो आखिर कहां जाएं

0
43

सुल्तानपुर(ब्यूरो)- सीएम योगी आदित्यनाथ आम जनमानस को सुविधा देने के लिए भले ही कटिबद्ध हों, पर कुर्सी पर बैठे ज़िम्मेदार इसके विपरीत धारा में बह रहे हैं। ताज़ा मामला बल्दीराय थाने से जुड़ा है, जहां दो दिन पूर्व थाने पर आए|

मंदबुद्धि किशोर को थाने का एक सिपाही लखनऊ के राष्ट्रीय बाल गृह लेकर पहुंचा तो यहां बैठे ज़िम्मेदारों ने किशोर को वहां रखने से मना कर दिया। ऐसे में अब सिपाही किशोर को लेकर कहां जाए ये बड़ा सवाल है?

यह है मामला
जानकारी के अनुसार दो दिन पूर्व बल्दीराय थाने के भवानीगढ़ इलाके में एक मंदबुद्धि किशोर लावारिस अवस्था में पाया गया। ग्रामीणों की जब इस पर निगाह पड़ी तो उन्होंने इसकी सूचना डायल 100 पर दी। मौके पर पहुंची डायल 100 की टीम ने मंदबुद्धि किशोर को अपनी कस्टडी में लिया और बल्दीराय थाने पर पहुंचाकर औपचारिकता पूरी कर ली।

24 घंटे ज़िला मुख्यालय रखा गया किशोर
इस बीच मंगलवार को उक्त मंदबुद्धि किशोर को सुल्तानपुर ज़िला मुख्यालय स्थित न्यायालय बाल कल्याण समिति में रखा गया। बताया जा रहा है कि यहां 24 घंटे उक्त किशोर को रखने के बाद आज बुधवार को थाने के सिपाही को उसके सुपुर्द करते हुए मय कागजात उसे राष्ट्रीय बाल गृह लखनऊ के लिए स्थानांतरित कर दिया गया।

राष्ट्रीय बाल गृह के ज़िम्मेदारो ने किशोर को लेने से किया मना
थाना बल्दीराय के एसओ ने सिपाही मुकीम के हमराह मंदबुद्धि किशोर को लखनऊ के लिए रवाना किया। सिपाही मुकीम की मानें तो उक्त किशोर को डॉक्टरी रिपोर्ट आदि के साथ लेकर आज जब राजधानी लखनऊ के राष्ट्रीय बाल गृह में पहुंचा तो उन्होंने किशोर को वहां रखने से मना कर दिया।

रिपोर्ट-दीपक मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here