कमीशन से सरपंचों का व्यारा-न्यारा प्रशासन का नही है डर

0
104

बालोद- जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर की दूरी जनपद पंचायत गुरुर के ग्राम पंचायत दरगहन का आश्रित ग्राम दानीटोला में खनिज न्यास मद से 7 लाख का सीसी रोड निर्माण किया गया है जिसका विकास यात्रा के दरमियान उद्घाटन हुआ है परंतु सीसी रोड में जगह जगह दरारे पढ़ चुकी है अभी से यह हाल है तो चंद दिन बाद बरसात आने वाला है आसानी से समझा जा सकता है की आगे सीसी रोड का क्या हश्र होने वाला है क्या यही विकास की सौगात है यह आम जनता पूछ रहा है।

जिला प्रशासन में नाकामियों का दौर थम नहीं रहा है चाहे सड़क निर्माण हो चाहे शौचालय निर्माण हो चाहे PWD हो या अन्य किसी तरह का मामला हो जहां भ्रष्टाचार खुलकर सामने आ रहा है इसी सिलसिले में जनपद पंचायत गुरूर के ग्राम पंचायत दरगहन के आश्रित ग्राम दानीटोला में बनाया गया घटिया सीसी रोड निर्माण पर अंकुश लगाने में विफल हो गए है इस पंचायत में खनिज न्यास मद से बहुप्रतीक्षित सीसी रोड निर्माण मे विभागीय अधिकारियों के अनदेखी के चलते अभी से दरार पढ़ना चालू हो गया है |

यह बताना जरूरी है की इसका कार्य एजेंसी ग्राम पंचायत था ग्राम पंचायत की मनमानी के चलते निर्माण में घटिया मटेरियल की संभावना बढ़ गई है अगर यही सब चलता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब जगह-जगह इस तरह का घटिया निर्माण हो और क्या समझें यह सब अधिक कमीशन के चक्कर में ही हो रहा है यह तो सब को पता है फिर भी यह है महिमा बालोद जिला का जिस तरह से सरकारी पैसों का दुरुपयोग ग्राम पंचायत दरगहन के आश्रित ग्राम दानीटोला में हो रहा है इससे स्पष्ट पता चलता है कि जिला प्रशासन कैसे आंख मूंदकर कमीशन के चक्कर को बढ़ावा दे रहा है|

अगर जिला प्रशासन इस पर कड़ी कार्यवाही करती तो किसी में हिम्मत नहीं होता इस तरह का कार्य को अंजाम देने में अब सोचना यह है कि आखिर क्यों इस तरह की घटिया निर्माण को आंख मूंदकर अधिकारी बिल को पास करते हैं यह तो वही जाने पर स्पष्ट होता है की कमीशन का बड़ा खेल जनपद पंचायत गुरूर में खेला जा रहा है इस खेल में कहीं ना कहीं जिला प्रशासन भी शामिल हो सकता है वरना जिला प्रशासन की तरफ से उचित कार्यवाही होती तो ऐसे कामों को अंजाम नहीं दे पाता।

रिपोर्ट- खिलावन चन्द्राकर/हरदीप छाबड़ा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here