प्यार में अंधे अधेड़ ने पार की सारी हदें

0
67

मैनपुरी(ब्यूरो)- मामला मैनपुरी के थाना करहल क्षेत्र के चंदरपुर का है जहाँ के रहने बाले 45 वर्षीय दो बच्चों के पिता रामसरन को 18 साल की शीला से प्यार हो गया प्यार ऐसा परवान चढ़ा की आखिरी साँसे भी दोनों ने एक साथ ही ली।
सूत्रो की माने तो रामसरन के शीला के प्रेम सम्बन्ध कई सालो से चले आ रहे थे। जिसे रोकने के लिए परिवार ने हर सम्भव प्रयाश भी किये परंतु उन दोनों ने मिलना जुलना बंद नही किया।

रामसरन दूध की डेयरी चलता था और शीला के खेतो का रस्ता उसी डेयरी की दुकान से होकर गुजरता था। खेतो पर जाते समये जब भी मौका मिलता शीला और रामसरन आपस में उसी दुकान पर मिल लिया करते थे। रामसरन अपराधिक परवर्ती का था जिसके ऊपर पहले से ही 307 का अपराधिक मामला दर्ज है यही बजह थी गांव का कोई ब्यक्ति खुल कर उसका विरोध नही कर पाता था।

सूत्रो ने बताया की रामसरन के ऊपर जो केस चल रहा था उसका फैशला इसके खिलाफ आने बाला था, और इसमें इसे बड़ी सजा मिलने बाली थी।जिसकी बजह से वो परेशान चल रहा था।

इधर शीला के परिवार बालो ने शीला की सगाई तय करदी थी और मई 6 को उसकी बारात आनी थी। ये दोनों बजह से परेशान रामसरन ने शीला को अपनी दुकान पर बुलाया। शीला के परिजन रात को खेतो पर पानी लगा रहे थे। मौका देख कर शीला रामसरन की दुकान पर चली गयी । जाते बक्त शीला उस साडी को भी साथ लेकर गयी जो उसे उसकी ससुराल से गोद भरने के समये आई थी। लघभग रात के एक और दो के बीच तीन गोलियाँ चलने की आवाज लोगो ने सुनी। लोगो ने आकर देखा तो डेयरी की दुकान के बाहर शीला का मृत सरीर व् अंदर तखत पर रामसरन का सव खून से लथपथ पड़ा मिला| ऐसे क्याश् लगाये जा रहे कि दोनों के विचड़ने से भयभीत होकर रामसरन ने पहले शीला को दो गोली मारी और फिर अपने खुद के गोली मार कर जीवन लीला समाप्त कर ली। सुचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

रिपोर्ट- प्रमोद झा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY