निर्दयी और भ्रष्ट पुलिस का चेहरा एक बार फिर आया सामने

0
88

सुल्तानपुर (ब्यूरो)- जिले के गोसाईगंज थाना पुलिस की बर्बरता एक बार फिर उजागर हुई है। आरोप है कि सिरवारा गांव में एक रास्ते के विवाद को हल कराने पहुंचे थाने के सिपाही ने पीडित महिला को पीटते हुए उसे धक्का दे दिया। जिससे वो गिर कर बेहोश हो गई। आनन-फानन में उसे जीला हास्पिटल पहुंचाया गया, जहां से उस महिला केि चिंता जनक हालत में डाक्टर ने महिला को ट्रामा सेंटर लखनऊ रिफर कर दिया है।

जानकारी के अनुसार गोसाईगंज थाने के सिरवारा गांव निवासी नफीस अहमद का गांव के ही यूनुस से रास्ते का विवाद चल रहा था। जिसमें आज कुछ निर्माण कार्य शुरु हुआ तो पीडित ने डायल 100 कर और गोसाईगंज पुलिस को सूचना दिया।

सूचना पर थाने के सिपाही बलवंत सिंह मौके पर पहुंचे, साथ ही डायल 100 की टीम भी पहुची। पीडित का आरोप है कि सिपाही बलवंत ने हम मेंं से किसी की एक नहीं सुनी और विपक्षियो से मिलकर पीडितों पर ही पुलिसिया कहर ढाना शुरु कर दिया। ये भी आरोप है कि सिपाही बलवंत ने पहले गालियां दीं और फिर पीडित की ओर से मौके पर मौजूद ईदुल निसा को पीटते हुए धक्का दे दिया।

जिससे वो गिरकर बेहोश हो गई, तब परिजन आनन-फानन में लेकर महिला केा अस्पताल लेेेकर आये,जहां डॉ ने महिला को ट्रामा सेंटर रिफर कर दिया।

जिला हास्पिटल में डाक्टर आर.एल यादव ने घायल महिला का फस्ट ऐड कराया। लेकिन हेड इंजरी अधिक होने के कारण डाक्टर ने महिला को ट्रामा सेंटर लखनऊ रिफर कर दिया।

बताते चले कि सिपाही बलवंत सिंह 5 वर्षों से अधिक समय से थाने पर तैनात है। जिसकी बर्बरता से क्षेत्र के अधिकांश तर पर लोग परेशान हैं। कई बार शिकायत के बाद भी नही हुआ इनका सथानान्तरण, लेकिन सिपाही का वर्चस्य आज तक अपनी जगह बरकारार है।

फिलहाल उक्त मामले में जब एसपी से फोन पर बात की गई तो उन्होंने कहा कि मामला संज्ञान में आया है।प्रकरण में जांच कराई जा रही है रिपोर्ट आने पर दोषी के खिलाफ कार्यवाई की जाएगी।

रिपोर्ट-संतोष यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here