उन्नाव में बेअसर हैं योगी के फ़रमान

0
51

उन्नाव(ब्यूरो)- सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरकार बनते ही सबसे पहले महिलाओ व छात्राओ की सुरक्षा के लिये रोमियो दल बनाकर अभियान चलाकर नकेल कसने काम शुरू कराया लेकिन हसनगंज कोतवाली क्षेत्र में सीएम का फरमान का असर दूर-दूर तक नजर नही आ रहा है। जिसका जीता जागता उदाहरण है कि तीन दिन पहले अगवा की गयी नाबालिग दो सगी बहनो को तो पुलिस ने नाटकीय ढंग से बरामद कर दिया लेकिन आरोपियो को सेटिंग गेटिंग होने से थाने तक लाना गवारा नहीं समझा। पीडित परिजनो को उलटे धमकाकर एफआईआर दर्ज न कर चलता कर दिया।

कोतवाली क्षेत्र के निंदेमऊ मे बीस अप्रैल की शाम को दो सगी बहने शौच के लिये गयी थी। तभी कुछ लोगो ने अगवा कर गायब कर दिया था। उसी रात मे लडकियो के पिता ने बताया कि थाने मे बगल गांव के निवासी अनिल पुत्र कललू व संजय पुत्र मुनेशवर निवासी सेमरा को नामजद रिपोर्ट दर्ज करने की तहरीर दी थी लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज न ही की तथा रविवार तीसरे दिन पुलिस ने नाटकीय ढंग से एक सोलह वर्ष व छोटी चौदह वर्ष दोनो बहनो को बरामद कर परिजनो को सुपुर्द करने का दबाव बनाती रही। रिपोर्ट न लिखाकर मामले को दफनाने का दबाव पुलिस बनाती रही। पीडित परिजनो ने बताया आरोपियो से पुलिस साँठगाँठ करके बरामद कर अगवा करने वालो के खिलाफ कार्यावही न करके छोडने का आरोप लगा रहे है। यह कोई पहली घटना नही है।कोतवाली के बहमना मे इंटर कालेज से पेपर देने के बाद छात्रा गायब हो गयी। पीडित परिजनो ने तहरीर दी लेकिन गुम शुदगी तक पुलिस ने दर्ज करना गवारा नही समझा और पूरा दिन पुलिस रिपोर्ट न दर्ज करने का दबाव लडकियो के परिजनो पर बनाते रहे हालांकि पुलिस ने इस पर बताया है कि लडकियो के परिजनो ने तहरीर दी लेकिन कोई कार्यावाही नही चाहते है। लडकियो को परिजनो की सुपुर्दगी मे दे दिया गया है। कोतवाली प्रभारी के सीयूजी नंबर पर जानकारी चाही तो फोन नहीं उठाया।

रिपोर्ट- राहुल राठौर

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY