भारत के पहले ‘मिस्टर यूनिवर्स’ मनोहर ऐच – 1952

0
1000

मनोहर ऐच भारत के पहले व्यक्ति जिन्होंने 1952 मिस्टर युनिवेर्स ग्रुप 3 चैंपियनशिप का ख़िताब जीता और 3 बार एशियन गेम्स बॉडीबिल्डिंग में स्वर्ण पदक विजेता भी रहे |

मनोहर जी बचपन से ही बॉडी बिल्डिंग और फिटनेस के शौक़ीन थे उस समय जिम और वजन उठाने के यंत्र मौजूद नहीं थे अतः वह शरीर के भार से जुड़े व्यायाम किया करते थे, उनकी किशोरावस्था में उनके व्यायाम में पुश-अप, पुल-अप, squat और leg-raise शामिल थे

उनके बॉडीबिल्डिंग के कैरियर में बड़ा बदलाव तब आया जब वो रॉयल एयर फ़ोर्स में शामिल हुए जहाँ Reub Martin (RAF में उनके वरिष्ठ) ने औपचारिक रूप से उन्हें वजन-प्रशिक्षण (weight-Training) की जानकारी दी |

उन्होंने वर्ष 1951 में पहली बार मिस्टर युनिवेर्स में भाग लिया जहाँ उन्होंने द्वितीय स्थान प्राप्त किया, और फिर 1952 में उन्होंने मिस्टर युनिवेर्स का ख़िताब जीतकर इतिहास रच दिया,

इसके बाद उन्होंने 1955 के मिस्टर युनिवेर्स में तीसरा और 1960 में चौथा स्थान प्राप्त किया, 1960 में वह 47 वर्ष के थे वे लगातार कई बॉडीबिल्डिंग आयोजनों में भाग लेते रहे, उन्होंने अपना आखिरी बॉडीबिल्डिंग शो 2003 में किया तब वह 90 वर्ष के थे |

आज मनोहर 103 वर्ष के हैं और पूरी तरह से स्वस्थ है, उन्होंने कभी अल्कोहल को हाँथ भी नहीं लगाया, न कभी धुम्रपान किया, सारी उम्र उन्होंने प्राकृतिक खाद्यों जैसे फल, दूध, सब्जी, चावल,और मछली का सेवन किया |

अखंड भारत परिवार बेहतर भारत निर्माण के लिए प्रयासरत है, आप भी इस प्रयास में फेसबुक के माध्यम से अखंड भारत के साथ जुड़ें, आप अखंड भारत को ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here