बुजुर्ग की मौत को परिजन सामान्य मौत बताकर कर रहे थे अंतिम संस्कार

0
25

छत्तीसगढ़ (ब्यूरो)– परिजन सामान्य मौत बताकर मृतक की अंतिम संस्कार करने की तैयारी कर रहे थे| तभी पुलिस श्मशान घाट पर पहुंचकर मृतक की पोस्टमार्ट कराई थी| जिसके बाद मामले की जांच के दौरान पता चला कि परिवार वालों ने ही बुजुर्ग की हत्या की थी| पुलिस ने हत्या के आरोप में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है| गिरफ्तार सभी आरोपियों में मृतक के सगे भाई और परिवार के सदस्य ही शामिल है|

देवभोग थाना प्रभारी सत्येंद्र श्याम ने आज इस हत्या की गुत्थी का खुलासा करते हुए बताया कि 50 वर्षीय धोबलेश्वर सोनी का शव 4 अगस्त को उसके ग्राम घुमरगुड़ा स्थित निवास पर मिला था| शव के सड़ने के बाद बदबू आने ग्रामीणों ने उसके परिजन को इसकी जानकारी दी थी, जिसके बाद परिजनों ने शव को निकाल कर अंतिम संस्कार के लिए ले गए थे| इसकी सूचना ग्राम सरपंच ने पुलिस को दी| पुलिस मौके पर पहुंचकर अंतिम संस्कार को रोक कर शव का पीएम करवाया. पीएम रिपोर्ट में बुजुर्ग के सिर पर चोट व गुप्तांग में चोट की पुष्टि हुई थी|

मुख्य आरोपी – कड़ाई से पूछताछ में कबूला जुर्म
इसी रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने अपनी आगे को जांच शुरु की. जिसके बाद पुलिस मामले में मृतक के परिजनों से कड़ाई से पूछताछ की जिसमें मृतक के भतीजे ख़िरसिंधू ने 1 अगस्त को हत्या करना कबूल किया| उसने बताया कि रॉड से सर पर वार करने के अलावा उसके गुप्तांग में लात से मारा था| पुलिस ने ख़िरसिंधू के ख़िलाफ हत्या की धारा 302 ,201के तहत मामला पंजीबद्ध कर लिया है|

इन आरोपियों को किया गया गिरफ्तार
घटना की जानकारी होने के बाद सबूत को छुपाने के लिए और मामले में लीपापोती के प्रयास के आरोप में ख़िरसिंधू की मां रुक्मणि सोनी, जो उस इलाके की जनपद सदस्य है| बड़ा बेटा लक्ष्मीकांत सोनी पेशे से शिक्षक, है धर्मेंद्र सोनी, सुर्जन सोनी को आरोपी बनाया गया है.  जिसके बाद पांचों आरोपी को गिरफ्तार कर कार्रवाई करने के लिए कोर्ट में पेश करने की तैयारी कर ली है|

ये थी मौत की वजह
जमीन विवाद हत्या का वजह बताया जा रहा है, मृतक का अपना कोई परिवार नहीं है| मृतक अपने हिस्से के पुस्तैनी जमीन को अपने जीते जी अपने नाम करने के बाद दूसरे मंझोले भाई के बेटे के नाम कराना चाह रहा था| वर्तमान में जमीन आरोपी परिवार के मुखिया पूरन सोनी के नाम पर है| पकड़े गए पांचों आरोपी में पूरन की पत्नी दो बेटे, दामाद व भतीजे का नाम शामिल है|

रिपोर्ट – सुनीता सिंह राजपूत

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here