वायु प्रदूषण से पीड़ित है जिले की आम जनता

0
38

रायबरेली – धूल, धुएं और बढ़ते पर्यावरण प्रदूषण की वजह से जिला रायबरेली में हालात बेहद विकट बने हुए है। आने वाली सर्दीयों के दिन स्मॉग में गहरी धुंध का रूप ले लेते है तथा पूरे दिन सूर्य भी दिखाई नहीं पड़ता है इसके साथ ही खुले स्थानों, सार्वजनिक स्थलों पर सांस लेना भी दुश्वार होता जा रहा है। स्थिति की गंभीरता का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि पूरे जिले में तेजी के साथ एलर्जी, आंखों की बीमारियां, श्वास, दमा, अस्थमा, हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, श्वसन तंत्र संबंधी बीमारियों रोगों से प्रभावित मरीजों की भीड़ यहां के सभी सरकारी व निजी अस्पतालों में देखी जा सकती है। चिकित्सकों के अनुसार इससे शरीर के नर्वस सिस्टम के प्रभावित होने से कोई भी अंग काम करना छोड़ सकता है। इस वजह से सबसे ज्यादा परेशानी रायबरेली जिले के मुख्य मार्गो पर होती है जैसे सुल्तानपुर रोड,कैनाल रोड आदि रूट जिले के काफी व्यस्तम रुट माने जाते है।जहाँ पर धुएँ और धूल की सफेद चादर की वजह से वाहन चालकों को कुछ भी नहीं दिखाई देता है और कभी भी दुर्घटना घट सकती है। जिले में छाई ये धूल और धुआँ जो आपको सांस और फेफड़ों से संबंधित कई गहरी बीमारियां दे सकता है।

जब हम सांस लेते हैं तो हवा में फैले हुए अतिसूक्ष्म जहरीले कण शरीर में घुस जाते हैं जिससे होने वाली खतरनाक बीमारियों से आम जनता को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और खतरा उत्पन्न कर देता है। और अगर बात करें गर्भवती महिलाओं की यदि एक गर्भवती महिला प्रदूषित हवा में सांस लेती है तो उसका अजन्मा बच्चा मर भी सकता है। डॉक्टरों के मुताबिक ऐसी महिलाओं के बच्चों में निमोनिया और अन्य बीमारियों से लड़ने की शक्ति कमजोर हो जाती हैं।

रिपोर्ट – हर्षित द्विवेदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here