पाँच वर्ष पूर्व गायब हुई लड़की वापस पहुँची घर, पुलिस ने नहीं की कार्यवाही

0
89

कालाकॉकर/प्रतापगढ़ (ब्यूरो)- नबाबगंज थाना के संजू देवी पिता स्व. द्वारिका प्रसाद को पिछले पॉच वर्ष पूर्व ही उनके गॉव के ही प्रधान के चचेरे भाई रामसरन के ऊपर आरोप लगाते हुये | नबाबगंज थाने गयी लेकिन कोई कार्यवाही न होने से परिवार के लोग दहशत में हैं | संजू ने बताया कि जब वह चौदह साल की थी और वह रामसरन के खेत मे गेंहू काट रही थी तो दोपहर मे दो बजे राम लखन ने पीने के लिये पानी दिया और जब आंख खुली तो उसने अपने आप को अनजान शहर हरियाणा में पाया |

इधर घर पर बूढ़ी मॉ ने बेटी संजू को ढूढने में कोशिशे की| थाने मे भी गयी लेकिन सिर्फ मायूसी के अलावा कुछ हाथ नही लगा | धीरे-धीरे उम्मीदे भी खत्म हो गयी और लगभग बीसो हजार रु. कर्ज भी हो गये
लेकिन बेटी का कहीं पता नही चला |

एक दिन दिनॉक 29-3 -2017 को एक व्यक्ति के साथ संजू आ गयी | संजू के साथ एक दो वर्ष की बेटी भी थी
संजू ने बताया कि रामसरन ने उसको दस दिन तक अपने पास रखा फिर किसी भगवान दीन के पास सुपुर्दगी करके उससे पैसा लेकर चला गया | भगवान दीन ने तीन महीने तक उसके आने का इन्तजार किया | फिर संजू से फोन करवाकर प्रधान से बात करवायी तो संजू ने प्रधान से बात की लेकिन प्रधान ने संजू की मॉ से संजू को बात तक नही करवाया
फिर संजू और भगवान दीन ने शादी करली और अब दो साल की बेटी है| पति ने संजू को मायके मॉ के पास मिलवाने लाया तो सच्चाई सामने आयी
लड़की ने बताया कि पति भगवान दीन ने उसे कोई तकलीफ नही दी और प्यार से रखता था और पति ने ही मायके आने की और गुनहगार को सजा दिलाने के लिये कहा उधर लड़की अपनी मॉ के साथ थाने नबाबगंज गयी तो सिर्फ तहरीर ले ली गयी और कोई कार्यवाही न ही हुयी| थाने जाने के बाद शाम को राम सरन अपने साथियो के साथ संजू के घर पहुंचकर मारपीट की और धमकी भी दी | नबाबगंज एसो को इस घटना की जानकारी नही है उनका कहना है कि थाने मे शिकायत की गयी होगी तो मैं पता करके कार्यवाही करुंगा |

रिपोर्ट- पंकज मौर्या
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY