सरकारी धन पर डाका डाल रहे हैं धरती के भगवान, बिना ड्यूटी किये ही ले रहे हैं वेतन

0
209
क्रेडिट- वेबदुनिया

प्रतापगढ़(ब्यूरों)- एक तरफ सरकारी नौकरी को पाने के लिए बेरोजगारों में मारामारी चल रही है, वही दूसरी ओर जिनको मिल गई है, वे बिना काम किये ही वेतन लेकर सरकारी धन पर डाका डाल रहें हैं। कई महीनों से गायब करीब आधा दर्जन से ऊपर स्वास्थ्यकर्मी बिना ड्यूटी किये ही विभागीय अधिकारियों की मिली भगत से सरकारी धन का दोहन कर रहें हैं।

सूबे के सीएम के आदेश का असर प्रतापगढ़ जिले के किसी भी विभाग पर नही दिखाई पड़ रहा है। जिले से भले ही तीन मंत्री सत्ता में हों लेकिन बेलगाम नौकरशाही पर वे कोई भी नियंत्रण नही रख पा रहे हैं।

मामला कुंडा तहसील के बाबागंज ब्लाक के स्वास्थ विभाग से जुड़ा है। इस ब्लाक में कई सारे डाक्टर और कई सारे स्वास्थ्यकर्मी पिछले कई महीनों से ज्वाइनिंग करने के बाद से गायब हो गए हैं। वे कहां हैं और किस हालत में हैं? ये विभाग को भी नही पता है। ड्यूटी करने आयेगे भी या नही? ये भी विभाग को नही पता? सबसे बड़ी बात यह है कि इन डाक्टरो और स्वास्थ्य कर्मियों के खिलाफ आज तक कोई भी कार्यवाही नही की गई है।

विभागीय सूत्रों की माने तो ज्वाइनिंग के बाद से गायब रहने वाले चिकित्सको और स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या करीब आधा दर्जन से ऊपर है। बिना ड्यूटी किये ही इन कर्मियों को मोटे वेतन का भुगतान किया जा रहा है और आगे भी विभाग का इरादा वेतन भुगतान करने का है।

कागजों में भले ही बाबागंज की स्वास्थ्य सुविधा चाक चौबंद हो लेकिन यथार्थ के धरातल पर किसी भी सुविधा का लाभ इन कर्मियों के गायब होने से यहां की जनता को नही मिल पा रहा है। विभागीय अधिकारी भी सब कुछ जानते हुए अपनी कमाऊ खाऊ नीति की वजह से कोई भी कार्यवाही इन लापरवाह स्वास्थ्य कर्मियों के खिलाफ नही कर रहें हैं।

गायब कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही न करने से सालों से जिले में जमे सीएमओ की भूमिका पर सवाल तो खड़े होते ही हैं , साथ ही साथ राज्य सरकार के दावों की पोल भी खोल दें रहे हैं।

अब यह देखना दिलचस्प होगा कि इन गायब रहने वाले अधिकारियों और कर्मियों के खिलाफ सरकार कोई कार्यवाही करती है या “सबका साथ सबका विकास” का नारा देने वाली ये सरकार केवल इन लापरवाह कर्मियों का ही विकास करती है?

रिपोर्ट- विश्व दीपक त्रिपाठी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY