जनपद प्रतापगढ़ में नहीं दिख रहा है योगी आदित्यनाथ का असर

0
367

प्रतापगढ़(ब्यूरो)- प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मानधाता पूर्व माध्यमिक विद्यालय मानधाता प्राथमिक विद्यालय मानधाता इन तीनों सरकारी कार्यालय के बगल लगभग 200 मीटर की परिधि में अंग्रेजी शराब की दुकान पान, गुटका तंबाकू चाय की दुकान, अवैध टेंपो स्टैंड, देसी मदिरा की दुकान धड़ल्ले से चल रही है| प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मानधाता की बाउंड्री से मात्र 10 मीटर की दूरी पर अंग्रेजी शराब की दुकान धड़ल्ले से चल रही है| जिसका कोई रोक टोक नहीं है| इस अंग्रेजी शराब की दुकान से मात्र 70 मीटर की दूरी पर पूर्व माध्यमिक विद्यालय मानधाता पंचायत भवन मानधाता तथा प्राथमिक विद्यालय मानधाता प्रथम स्थित है| वहीं दूसरी छोर पर डेढ़ सौ मीटर की अंतर्गत देशी मदिरा की दुकान तथा खुले में मीट की दुकान चल रही है|

सबसे चौंकाने वाली बात तो यह है कि जिस जगह पर प्राथमिक विद्यालय स्थित है| वहीं पर मानधाता कस्बे से प्रतापगढ़ के लिए टेंपो स्टैंड भी है| विद्यालय के पास हमेशा शोरगुल बना रहता है| विभागीय अधिकारी भी कुछ कार्यवाही करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे| इस का मामला यह है कि ऊंची पहुंच के लोग अपना दबदबा हर सरकार में कायम बनाए रखे हैं| इतना ही नहीं इसके आगे की दास्तां यह है कि यदि योगी राज में मातहत ही कानून की धज्जियां उड़ाने में माहिर रहेंगे तो आम जनता जनार्दन का क्या हाल होगा? लंबे-लंबे वादे तो यूं ही कागज पर चलते रहते हैं| वहीं कटरा गुलाब सिंह से प्रतापगढ़ के बीच में जिला मुख्यालय को जोड़ने वाली प्रतापगढ़ शहर को परिवहन विभाग की कोई भी सेवा उपलब्ध नहीं है|

कटरा गुलाब सिंह से प्रतापगढ़ की दूरी लगभग 30 किलोमीटर है| इस मार्ग पर अवैध तरीके से बिना परमिट के डग्गामार वाहनों का संचालन कराया जा रहा है, यह भी एक चिंता का विषय है| नई सरकार के बन जाने से इस सरकार के कार्यकर्ता जनता जनार्दन की परवाह किए बगैर अपनी अपनी पीठ थपथपाने में अपनी कामयाबी को हासिल करना चाह रहे हैं और रही बात ग्रामीण जनता जनार्दन की तो जनता के हित में तो केवल चुनाव के समय याद आती है| चाहे बूथ स्तर का कार्य करता हो चाहे जनपद स्तर का कार्यकर्ता हो चाहे प्रदेश स्तर का कार्यकर्ता हो केवल एक धुन चुनाव के समय में दिखाई पड़ती है मेरे प्रत्याशी को बहुतायत वोट मिले| लेकिन जब वोट मिल जाता है बिधायक मंत्री बन जाते हैं उनके इर्द-गिर्द सिर्फ और सिर्फ चाटुकारों का सिलसिला देखने को मिलता है|

सरकार की मूलभूत सुविधाओं को ग्रामीण जनता जनार्दन तक मुहैया कराने के लिए यदि बूथ स्तर से लेकर प्रदेश स्तर के कार्यकर्ता निष्पक्षता से सरकार के कार्यक्रम को गांव अस्तर तक संपादित करवाने का कार्य करें तो गांव से लेकर प्रदेश स्तर तक भ्रष्टाचार का सफाया हो सकेगा वरना भ्रष्टाचार का सफाया होना नामुमकिन समझ में आ रहा है| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सपना साकार करने के लिए उनकी ही पार्टी के कार्यकर्ताओं को निष्पक्षता से जनता जनार्दन के बीच में जाकर दुख सुख को सुनकर पार्टी हाईकमान कार्यकर्ताओं से अवगत कराएं ताकि उत्तर प्रदेश सरकार का सपना साकार हो सके और गरीबों को न्याय मिले| पूरे देश की जनता ने नोटबंदी का सिलसिला 50 दिन बखूबी झेला है| यह किसी से परे नहीं है बावजूद इसके जनता भी सब कुछ जानते हुए देश में मोदी प्रदेश में योगी की सरकार को सत्ता देकर अच्छे दिन की शुरुआत देखने के लिए टकटकी निगाहें से देख रही है| क्या वास्तव में गांव की जनता तथा शहर की जनता के अच्छे दिन आए हैं? यह तो देखने की बात है|

अब सबसे बड़ी चुनौती शराब की दुकानों का संचालन उच्च प्राथमिक व प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षा का सुधार तथा अवैध विद्यालय वाहनों आरा मशीन हरे वृक्षों की कटाई पशु तस्करी JCB मशीनों गांजा बिक्री मादक पदार्थों पर रोक अवैध शराब फैक्ट्री पर रोक यह सब बहुत बड़ी चुनौती की बात है| क्या सरकार इस मसले पर कारगर कदम उठा पाती है तथा पूर्णरूपेण निष्पक्षता से बंदी करा पाएगी या नहीं प्रतापगढ़ जनपद में धड़ल्ले से अवैध कार्यों का संचालन मिलीभगत से जोरो पर हो रहा है|

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here