लाखो की अष्टधातु मूर्ति बरामदगी में जज ने ‘कलक्टर’ को सुनाई सजा

0
99
इन्टरनेट

सुल्तानपुर(ब्यूरो)– लाखों की अष्टधातु मूर्ति बरामदगी के मामले में आरोपी को अदालत ने दोषी ठहराया है। एसीजेएम पंचम सपना शुक्ला ने दोषी को एक वर्ष के कारावास की सजा सुनाई है। मामला कूरेभार थाना क्षेत्र का है। जहां के तत्कालीन थानाध्यक्ष भरत यादव ने एक सितंबर 1998 को हुई घटना का जिक्र करते हुए मुकदमा दर्ज कराया। आरोप के मुताबिक वह उस समय पुलिस बल के साथ क्षेत्र भ्रमण पर निकले हुए थे, इसी दौरान मुखबिर से दो आरोपियों को चोरी की मूर्ति बेचने के लिए ले आने की सूचना मिली।

इसी सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने आरोपी कलक्टर उर्फ सलीम निवासी मेवली व सहआरोपी विक्कन उर्फ मुन्ना खां निवासी रुद्दलपुर जिला एटा को दौड़ाकर पकड़ लिया। पकड़े गए आरोपी कलक्टर के पास से भगवान बुद्ध की अष्टधातु की प्रतिमा बरामद की गई, जिसकी कीमत लगभग 25 लाख रूपये आंकी गई। वही आरोपी विक्कन के पास से 100 रुपए की बरामदगी हुई। दोनों आरोपियों के खिलाफ इस मामले में एसीजेएम पंचम की अदालत में विचारण चल रहा था, इसी बीच आरोपी विक्कन की मृत्यु हो गई। वहीं कलक्टर के खिलाफ चल रहे विचारण के दौरान अभियोजन पक्ष ने 4 गवाहों को पेश किया, वहीं बचाव पक्ष ने अपने तर्कों को पेश किया। तत्पश्चात न्यायाधीश सपना शुक्ला ने आरोपी कलक्टर को दोषी करार देते हुए एक वर्ष के कारावास की सजा सुनाई है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here