योगी सरकार के विरुद्ध आंदोलन की शुरुआत

0
93

लखनऊ(ब्यूरो)- सवा दो माह पुरानी योगी सरकार के विरुद्ध आंदोलन की शुरुआत करते हुए समाजवादी पार्टी ने भाजपा के विधायकों, सांसदों व मंत्रियों की कार्यशैली पर ढेरों सवाल उठाये।

प्रदेश के सभी 75 जिलों के जिलाधिकारियों के माध्यम से राज्यपाल को भेजे ज्ञापन में दलित, कमजोर वर्ग के उत्पीडऩ होने का आरोप लगाया गया है। सपा के ज्ञापन में कहा गया है कि भाजपा की सरकार बनने के बाद अराजकता का दौर शुरू हो गया।

दलितों, कमजोर वर्ग का उत्पीडऩ हो रहा है। सांप्रदायिकता का उन्माद चरम पर है। भाजपा के विधायक, मंत्री और सांसद अधिकारियों को प्रताडि़त कर रहे हैं। दुष्कर्म, लूट, अपहरण और हत्याओं पर नियंत्रण नहीं है।

भाजपा सरकार बनते ही हिंदू युवा वाहिनी, बजरंगदल, भाजयुमो, विश्व हिंदू परिषद जैसी संस्थाओं ने कानून हाथ में लेकर निर्दोषों को उत्पीडि़त करने का काम शुरू कर दिया है

डीएम के माध्यम से राज्यपाल को भेजे ज्ञापन में कहा गया है कि भाजपा सरकार शांति व्यवस्था के मामले में विफल है। अखिलेश यादव के मुख्यमंत्रित्वकाल में जो विकास योजनाएं शुरू हुई, उनके बारे में भ्रम फैलाया जा रहा है। भेदभाव पूर्ण निर्णय लिये जा रहे हैं।

मुख्य प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि सपा कार्यकर्ताओं ने शांति पूर्ण ढंग से जिलाधिकारियों को ज्ञापन सौंपा है। पार्टी जल्द आगे के आंदोलन की रणनीति को अंतिम रूप देगी

रिपोर्ट-मिंटू शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY