जलभराव की समस्या से निजात दिलाने में नगर पालिका ने खड़े किए हाथ

0
22

रायबरेली (ब्यूरो)- शहर के रतापुर मोहल्ले में लोगों को जलभराव की समस्या से निजात दिलाने में नगर पालिका परिषद ने हाथ खड़े कर दिए हैं। तालाब पट चुका है तो वहीं पुराने नाले का एनएचएआइ ने तोड़ डाला। बारिश और घरों का पानी आखिर जाए तो कहां। हाल बेहाल लोगों ने जनप्रतिनिधियों का दरवाजा खटकाया। सिफारिशें हुई, लेकिन नतीजा ढाक के तीन पात ही रहा।

अफसरों की इस नाकामी का दंश लोग झेल रहे हैं। रतापुर मोहल्ले के करीब 50 घरों के लोगों का जलभराव के कारण आना-जाना दूभर है। सड़क पर पानी भरा होने से लोग घरों से निकलने में कतरा रहे हैं। वहीं दुर्गंध के चलते सांस लेना भी मुश्किल हो गया है।

मोहल्ले के प्रमोद सिंह, अश्वनी कुमार श्रीवास्तव, रामपाल वर्मा, राम सिंह, सचिन आदि का कहना है कि पिछले एक महीने से सड़क पर पानी भरा है। पहले लोगों ने खुद पालिका में शिकायत की। फिर सदर विधायक से भी गुहार लगाई। समस्या से छुटकारा पाने में सारे प्रयास विफल रहे।

 

लोगों का कहना है कि मोहल्ले में जल निकासी की उचित व्यवस्था न होने से यह समस्या परदा हुई है। पहले एक तालाब में पानी जाता था, लेकिन अब वह भी पट गया। एक नाला बना हुआ था, जिससे पानी निकल सकता था। मगर उसे भी तोड़ दिया गया। यहां लोग परेशान, वहीं अफसर सिर्फ हाथ पर हाथ रख कर बैठे हैं।

नाले के बिना नहीं मिलेगा छुटकारा- नगर पालिका परिषद की सफाई एवं खाद्य निरीक्षक अपर्णा बाजपरई का कहना है कि रतापुर में हाइवे के किनारे बने पालिका के नाले को एनएचएआइ ने तोड़ दिया था। उसकी जगह नया नाला बनवाया, लेकिन उसे भी पूरा नहीं किया। जब तक नाला नहीं बन जाता तब तक समस्या से निजात मिल पाना मुश्किल है।

रिपोर्ट-अनुज मौर्य /दिलीप

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY