पुलिस का नया कारनामा,बाल अपराध में मुकदमा दर्ज करने के बजाय उल्टा कर दिया पीड़ित का ही चालान

0
181

पीलीभीत (ब्यूरो) – उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त होते हुए दिखाई दे रही है, उत्तर प्रदेश के थानों में पुलिस की मर्जी चल रही है जिसको जैसा चाहती है वैसा ही इंसाफ कर देती है,और पीड़ितों को थाने से उचित न्याय न मिल पाने के कारण अक्सर पीड़ितों को उच्च अधिकारीयों के यहां चक्कर लगाने को मजबूर होना पड़ता है,ऐसा ही एक ताजा मामला उत्तर प्रदेश के जिला पीलीभीत के थाना जहानाबाद क्षेत्र के ग्राम करैया नवादा का प्रकाश में आया है,ग्राम की ही निवासिनी कुसुमा देवी पति उमाचरण ने थाना जहानाबाद से न्याय ना मिल पाने के कारण पुलिस अधीक्षक पीलीभीत बालेंदु भूषण को एक लिखित शिकायत पत्र दिया है,वहीं कुसमा देवी के पति उमाचरण ने मीडिया को अपनी व्यथा बताते हुए बताया,दिनांक 19 अक्टूबर 2018 को मेरा नाबालिग पुत्र उम्र 8 वर्ष अनिकेत अपनी मां कुसुमा देवी के साथ पास में ही खेत पर जानवरों के लिए चारा लाने के लिए गया था

उसी वक्त ग्राम के ही निवासी शंकरलाल पुत्र भूपराम तथा सियाराम पुत्र कड़ेराम ने मेरे नाबालिग बेटे को डंडे से बुरी तरह से मारा पीटा,जिससे उसके शरीर पर गंभीर चोटों के निशान बन गए हैं तथा बेटे को बचाने आई उसकी मां को भी उक्त लोगों ने मारा पीटा,जिसकी सूचना फोन के द्वारा 100 नंबर डायल कर पुलिस को दी थी(गाड़ी नम्बर 2063)डायल100 नम्बर पुलिस ने अग्रिम कार्रवाई के लिए थाने जाने को कहा,पीड़ित ने जब थाना जहानाबाद आकर अपनी रिपोर्ट दर्ज करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया तो थाना जहानाबाद पुलिस ने उल्टा पीड़ितों के ऊपर ही कार्रवाई कर दी,जबकि थाना जहानाबाद पुलिस को नाबालिग बच्चे के साथ मारपीट करने में उक्त लोगों के खिलाफ बाल अपराध के तहत कार्रवाई करनी चाहिए थी|

मगर थाना जहानाबाद पुलिस ने उल्टा पीड़ित परिवार को ही 151 में चालान कर दिया, आखिर इस तरह की कार्यवाही पुलिस के द्वारा क्यों की गई यह तो थाना जहानाबाद पुलिस ही जाने,पीड़ित ने आगे बताया कि वह अनुसूचित जाति का है और उक्त लोगों ने उनके साथ जाति सूचक शब्दों का भी प्रयोग किया है,थाना जहानाबाद पुलिस से न्याय ना मिल पाने के कारण पीड़ित परिवार ने पुलिस अधीक्षक पीलीभीत बालेंदु भूषण को प्रार्थना पत्र देकर नाबालिग पुत्र का मेडिकल करा कर उक्त लोगों पर मुकदमा दर्ज करवाने की मांग की है,एक सवाल-अब देखना यह है की जिले के पुलिस उच्च अधिकारी के द्वारा क्या कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्ट – राजेश गुप्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here