प्रतापगढ़ में सरकार के आदेशो को किया जा रहा तार-तार

0
83

प्रतापगढ़(ब्यूरो)- असपुर देवसरा ब्लाक के अमांपुर में बने पशु चिकित्सालय को 28/4/2001 को बनाया गया था, यहाँ पर प्रभारी डॉक्टर मोहन सिंह की है तैनाती और एक कंपाउडर के रूप में कुल दो लोगो के सहारे चलता है| हॉस्पिटल के दो डॉक्टर तो कागज में दिख रहे है लेकिन हकीकत यह है कि पूरा स्टाफ़ घर बैठे तनखाह लेते है| कोई भी डॉक्टर हॉस्पिटल देखने नही आता जो कि हॉस्पिटल के सहारे दो दर्जन गांव है लोगो को अपने पशुओ को इलाज के लिये दूर जाना पड़ता है| इस समय आलम यह है कि आप को कूड़े के ढेर पर नजर आ रही है हॉस्पिटल प्रभारी डॉक्टर की लापरवाही से कूड़ा बन के रह गयी है|

रिपोर्ट- उर्मिल सरोज और सूरज वर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here