बारिश से बही सड़क, ग्रामीणों की मुश्किलें बढीं

0
68

खीरों/रायबरेली(ब्यूरो)- विकास क्षेत्र खीरों के अन्तर्गत खीरों-निहस्था सम्पर्क मार्ग से मथुराखेडा गांव को जोडने वाली सडक बारिश की शुरुआत में ही बह गई । सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा बीते वर्ष कराये गए विकास कार्य में विभाग द्वारा भ्रष्टाचार की पोल सडक खुद बयां कर रही है । ग्रामीणों के आवागमन का मार्ग पूरी तरह से अवरूद्ध हो गया है । मथुराखेड़ा से खीरों जाने वाले स्कूली बच्चों और स्कूली वाहनों का आवागमन भी पूरी ठप हो गया । हालात यह है कि इस समय केवल दो पहिया वाहन और पैदल लोग ही इस रास्ते से निकल पा रहे हैं ।

मथुराखेड़ा निवासी मनोज, राज कुमार, संदीप आदि लोग बताते हैं कि पिछले वर्ष पीडब्ल्यूडी द्वारा खीरों-निहस्था सम्पर्क मार्ग से मथुरा खेड़ा तक सड़क का निर्माण कराया गया था । इस सड़क के निर्माण में पूरी तरह से मानकों की अनदेखी की गई थी । जिसके चलते एक साल भी नहीं बीता कि बारिश के मौसम की थोड़ी सी बरसात में ही यह सड़क बह गई और जगह-जगह सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए । जिससे मथुराखेड़ा गाँव से खीरों जाने के लिए दो पहिया वाहन और पैदल ही निकला जा सकता है । चार पहिया वाहन और बड़े वाहनों का गाँव तक आना पूरी तरह बन्द हो चुका है । स्कूल जाने वाले बच्चे वाहन न आ पाने के कारण स्कूल नहीं जा पा रहे हैं ।

रात के अंधेरे में ग्रामीण इन गड्ढों में गिर कर घायल हो रहे हैं । यदि समय रहते इस सड़क के गढ्ढों को भरवाने का काम नहीं कराया गया तो शीघ्र ही बारिश में मथुराखेड़ा का खीरों मार्ग से पूरी तरह संपर्क टूट जाएगा और मथुराखेड़ा के लोग गाँव में कैद होकर रह जाएँगे । ग्रामीणों ने विभागीय अधिकारियों से शीघ्र खीरों-मथुराखेड़ा मार्ग की मरम्मत कराने की मांग की है । जिससे आवागमन पूरी तरह बहाल हो सके ।

रिपोर्ट- आशीष शुक्ला

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY