राजस्व सचिव ने उच्च निवेश और वृद्धी हासिल करने के लिए नई और नवीन कर नीति तैयार करने हेतु उद्योग और व्यापार संघों के प्रतिनिधियों के साथ विस्तृत बैठकें शुरू की

0
457

The Revenue Secretary, Ministry of Finance, Dr. Hasmukh Adhia chairing a meeting with the representatives of Business & Finance of CII, in New Delhi on September 29, 2015.

राजस्व सचिव डॉ. हसमुख अधिया ने अगले बजट के लिए कर नीति में सुधारों के वास्‍ते नए विचार जानने के लिये आज से प्रमुख राष्ट्रीय चैम्‍बरों के उद्योग और व्यापार तथा विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिनिधियों के साथ विस्तृत बैठकें शुरू कर दी है। वित्त मंत्रालय इस तथ्य से वाकिफ है कि कर नीति का उपयोग देश के आर्थिक विकास की गति को बढ़ाने में महत्वपूर्ण साधन के रूप में किया जा सकता है और इसलिए उचित हितधारकों के साथ विचार-विमर्श महत्वपूर्ण है। यह उस दिशा में एक प्रयास है।

इस तरह की पहली बैठक आज यहां भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित की गई, जिसमें सीआईआई के नामित अध्‍यक्ष डॉ. नौशाद फोर्ब्स और सीआईआई के दस अन्य प्रतिनिधि शामिल है। इसी तरह की बैठकें 30 सितम्बर 2015 को फिक्की के प्रतिनिधियों, 06 अक्टूबर 2015 को एसोचैम और 07 अक्टूबर 2015 को पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित की जाएगी।

राजस्व सचिव डॉ. अधिया 01 अक्टूबर 2015 को बेंगलुरु में और 10 अक्टूबर 2015 को अहमदाबाद में भी उद्योग और व्यापार जगत के प्रतिनिधियों के साथ ऐसी ही बैठकें करेंगें। इसके तुरंत बाद 26 अक्टूबर से 30 अक्टूबर 2015 तक वे इलेक्ट्रॉनिक्‍स और सूचना प्रोद्योगिकी, दूरसंचार उद्योग, बिजली उद्योग, सड़क परिवहन और राजमार्ग उद्योग तथा वित्तीय सेवा क्षेत्र के प्रतिनिधियों के साथ क्षेत्रवार बैठकें करेंगे, जिसमें संबंधित विभागों के सचिव उपस्थिति होंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

20 + 4 =