प्रतापगढ़ में बेरोक-टोक चल रहा शराब माफियाओं का राज

प्रतापगढ़(ब्यूरो)- जनपद प्रतापगढ़ में शराब माफियाओं का राज चलता है| इस जिले में असरदार आदमी की शरण में रहकर लोग नकली शराब का अवैध कारोबार करते हैं| समय-समय पर पुलिस तथा आबकारी टीम मिलकर तथाकथित शराब माफियाओं के खिलाफ व्यापक अभियान चलाती है| शराब पकड़ी जाती है, बाद में मामला ऊंची पहुंच होने के नाते पुलिस रफा-दफा कर देती है|

ऐसे कई मामले प्रतापगढ़ जनपद में पुलिस तथा आबकारी विभाग की फाइल में चल रहे हैं| 1 सप्ताह के अंदर पुलिस देसी शराब समेत नकली शराब बनाने समेत तथाकथित इक्का-दुक्का शराब फैक्ट्रियां भी पकडी गयीं है, उनके खिलाफ कार्यवाही भी हुई है तो इससे अछूता प्रतापगढ़ जनपद का विशेष अंग मानधाता भी कहीं किसी मायने में कम नहीं है| अब यहां जरूरत है तो पुलिस विभाग के बड़े अधिकारियों की जिलाधिकारी समेत कई अधिकारियों की|

आज मांधाता कोतवाली क्षेत्र के टिकरी गांव समेत आस-पास के कई गांव में यह गोरखधंधा हरियाणा, राजस्थान व मध्यप्रदेश की दारू बेचने वालो का काम कई वर्षों से फल फूल रहा है| अभी हाल ही में जिला प्रशासन एवं आबकारी टीम के द्वारा टिकरी ग्राम सभा में और रजिस्टर्ड शराब की दुकान धर्मेंद्र सिंह निवासी ग्राम हरखपुर को आवंटित हुई| जब से यह दुकान टिकरी गांव में खुल गई है, आस-पास के खुफिया बेचने वालों की बल्ले-बल्ले हो गई है|

बेचारे धर्मेंद्र सिंह की बिक्री न के बराबर है क्योंकि इस क्षेत्र में हरियाणा, राजस्थान व मध्य प्रदेश की शराब ने अपना पांव पसार लिया है| आज एक वीडियो बयान में शराब के रजिस्टर्ड दुकानदार धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि मेरे पास शराब की रजिस्टर्ड तीन-चार दुकान है जब से मैंने टिकरी ग्राम सभा में शराब का लाइसेंस लिया है, तब से शराब माफियाओं के गुर्गे खुफिया शराब बेचने का काम और तेज कर दिए हैं| मेरे द्वारा नकली शराब की 2 बोतल पकड़ी गई है|

यह नकली शराब बेचने वाले बोतल के ऊपर लगे होलो अथवा रैपर को उखाड़कर चुपके-चुपके शराब के अवैध धंधे का जाल बहुत लंबा फैला चुके हैं| इतना ही नहीं जनपद के आस पड़ोस के जनपदों में भी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि शराब माफियाओं जाल फैला हुआ है| अब देखिए शासन प्रशासन जिला प्रशासन अथवा आबकारी विभाग मेरी क्या मदद करता है? मैंने इसकी सूचना जिला प्रशासन आबकारी विभाग स्थानीय पुलिस को दे दिया है| अब इसके आगे जो भी होता है वह आने वाला समय बताएगा|

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here