धड़ल्ले से की जा रही है नशे के इंजेक्शन की बिक्री, प्रशासन लापरवाह

0
79

मैनपुरी(ब्यूरो)- मैनपुरी के थाना भोंगाव में नशे के इंजेक्शन की बिक्री धड़ल्ले से की जा रही है, नगर के मेडिकल संचालक चोरी छिपे नशे के इंजेक्शन मंहगे दामों में बेंचकर अंधी कमाई करने में लगे हुए है, जिसके चलते कई लोगों को अपनी जिंदगी से हाथ धोना पड़ा है। कई लोग काल के गाल में समा चुके है। नशे के इंजेक्शन ने एक और युवक की जान ले ली। आखिर कब नींद से जागेगा स्वास्थ्य विभाग, कब होगी इन मेडिकल संचालकों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही, आखिर कितनी और जाने लेगा विभाग।

नगर के भोंगाव बेवर जी टी रोड मार्ग स्थित शक्ति फिलिंग स्टेशन के सामने स्थित माता ढावा पर काम करने वाले कर्मचारी की संदिग्ध अवस्था मे मौत हो गयी। प्राप्त जानकारी के अनुसार माता ढावा पर काम करने वाले पप्पू पंडित पुत्र नामालूम निवासी कादरी गेट चौकी, थाना मऊदरवाजा जनपद फर्रुखाबाद नगर के जीटी रोड स्थित माता ढावा पर बर्तन धोने का कार्य करता था। विगत सोमवार की दोपहर अचानक उसकी हालत बिगड़ने लगी, उसके मुंह से झाग आने लगा। आनन फानन में ढावा स्वामी ने उसे 108 एम्बुलेन्स बुलाकर मैनपुरी जिला चिकित्सालय भिजवाया परंतु रास्ते मे ही उसकी मौत हो गयी। आनन फानन में मृतक के परिजनों को सूचना दी गयी, परिजनों के आने के बाद गुपचुप तरीके से पंचायत कर मोटी रकम देकर परिजनों का मुंह बंद कर दिया गया। मृतक के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम कराया गया, बाद में शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।

होटल कर्मचारी की मौत ने कई सवाल खड़े कर दिए है। बताया जाता है कि मृतक नशे के इंजेक्शन लगाने का आदी था।  आखिर कहां से लाता था वो नशे के इंजेक्शन, कौन देता था उसे नशे के इंजेक्शन, आखिर होटल स्वामी ने कभी इंजेक्शन लगाने से क्यों नही रोका। कहीं एक्सपायर डेट का इंजेक्शन तो नही लगा लिया। पुलिस ने क्या कार्यवाहीन की, ऐसे कई सवाल हैं जिनके जबाब नही मिल पा रहे हैं।

आखिर विभाग द्वारा प्रतिमाह मेडिकल स्टोर संचालकों की सघन चैकिंग क्यों नही की जाती, इतनी आसानी से कैसे उपलब्ध करा दिए जाते हैं नशे के इंजेक्शन। सी एम ओ साहब जरा इधर भी ध्यान दीजिये। कहीं ऐसा न हो कि जब तक विभाग की आंख खुले तब तक कोई और काल के गाल में समा जाए।

रिपोर्ट- प्रमोद झा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY