लोक शिकायत कानून: जितना 10 साल में नहीं हुआ, उतना काम पिछले 1 साल में हुआ

0
68

पटना: बिहार लोक शिकायत अधिकार अधिनियम के एक साल पूरे होने पर हज भवन में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया| जान समाधान की पहली सफल वर्षगांठ शीर्षक से आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहे| इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने लोक शिकायत निवारण से जुड़े सभी पदाधिकारियों का धन्यवाद किया| नीतीश ने कहा कि यह कानून सुशासन की दिशा में एक ठोस कदम है|

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष 5 जून से शुरू हुए जन शिकायत निवारण के तहत 1 लाख 66 हज़ार शिकायतें दर्ज हुई, जिनमें 1 लाख 42 हज़ार शिकायतों का निष्पादन हुआ जो एक बड़ी बात है| उन्होंने कहा कि इतनी शिकायतों का निराकरण जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में 10 साल में भी नहीं हुआ| नीतीश ने कहा कि अपने विकास रैली व आदि में जनता की शिकायतों को सुनकर उनकी को कानूनी अधिकार देने का इरादा किया और पिछले वर्ष 5 जून से इसे लागू किया|

उन्होंने कहा कि जिन समस्याओं को लेकर लोग अधिकारियों के चक्कर लगाते थे, आज सम्मान के साथ उनकी शिकायत सुन कर उसका समाधान किया जा रहा है| नीतीश ने कहा कि शिकायत निवारण पदाधिकारी भी काफी लगन से काम कर रहे हैं| उन्होंने सभी अधिकारियों को कार्यकाल पूरा होने के बाद चॉइस पोस्टिंग देने की बात कही|

कार्यक्रम के दौरान जन समाधान मोबाइल एप व समाधान के परिवर्तित वेब साइट तथा जन समाधान पर आधारित एक लघु फिल्म के लोकार्पण के साथ समाधान पुस्तिका का विमोचन किया गया| मुख्यमंत्री ने सबसे अच्छा काम करने वाले तीन पदाधिकारियों को भी सम्मानित किया| कार्यक्रम में सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव डीएस गंगवार ने जान-समाधान के एक साल की उपलब्धियों का लेखा-जोखा पेश किया| इस अवसर पर पंचायती राज विभाग मंत्री, बिहार सरकार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, पुलिस महानिदेशक व अन्य अधिकारी मौजूद रहे| कार्यक्रम के अंत में मुख्यमंत्री व अन्य अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया| धन्यवाद ज्ञापन सामान्य प्रशासन विभाग के अपर सचिव केशव कुमार ने दिया|

रिपोर्ट- आशुतोष कुमार 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here