ग्राम विकास अधिकारी के पद पर नियुक्त युवक हत्या या आत्म हत्या का रहस्य लोगों के जहन में गूंज रहा

0
100

पुरवा/उन्नाव (ब्यूरो) – यू0पी0 सचिवालय से समीक्षा अधिकारी के पद से रिटायर युवक के ग्राम विकास अधिकारी के पद पर नियुक्त एकलौते पुत्र की हत्या या आत्म हत्या का रहस्य लोगों के जहन में गूंज रहा है। परिजनों के अनुसार पुत्र की हत्या की गयी जिसे हत्यारों ने आत्म हत्या का रूप देनें की कोशिश की। वहीं विकास खण्ड पुरवा में कार्यरत ग्राम पंचायत अधिकारी की रहस्मय मौत से पूरा विकास खण्ड सदमें में  है एवं भयभीत भी अब देखना यह है कि स्थानीय पुलिस की विवेचना में क्या निष्कर्ष निकलता है।प्राप्त विवरण के अनुसार मामला विकास खण्ड पुरवा थाना मौरावां के ग्राम नयागांव मजरे कोड़रा से सम्बन्धित है जहां बच्चूलाल रावत का पुश्तैनी मकान है बच्चूलाल रावत लखनऊ सचिवालय में सरकारी कर्मचारी थे तथा समीक्षा अधिकारी के पद से सेवानिर्वत हुए हैं बच्चू लाल रावत को मात्र दो ही बच्चे थे जिनमें एक पुत्र व दूसरी पुत्री बेटी सुमन की शादी हो गयी थी जो अपनी ससुराल में रहती है पुत्र जितेन्द्र कुमार रावत विकास खण्ड पुरवा में ग्राम विकास अधिकारी के पद पर कार्यरत था |

तथा अपने पैतृत गांव के बगल की ग्राम सभा बेवलमंशाखेड़ा तथा ग्राम सभा लखमदेमऊ के अलावा ग्राम सभा महरामऊ का चार्ज था वहीं चर्चा यह भी है कि रावत को हिलौली ब्लाक की ग्राम सभा रजवाड़ा का अतिरिक्त चार्ज भी सौंपा गया था। जिससे रावत को बड़ी ही कठिनाईयों का सामना करना पड़ता था। विकास खण्ड पुरवा के अन्य कर्मचारियों के अनुसार 22 नवम्बर 2018 को ग्राम विकास अधिकारी जितेन्द्र रावत लगभग 3 बजे तक विकास खण्ड में मौजूद रहे। ग्रामीणों के अनुसार रावत चार बजे के आस पास पत्नी पूनम को मौरावां से लखनऊ की बस में बैठाकर अपने घर ग्राम नयागांव आये उसके बाद 23 नवम्बर 2018 को समय लगभग 8 बजे पड़ोसी रमेश पुत्र पंचम तथा जितेन्द्र के चाचा के लड़के राजू पुत्र जियालाल ने कहा कि रावत अभी सोकर नहीं उठे क्या जिस पर उन लोगों ने रावत के मोबाईल फोन पर कई काल किया पर मोबाइल की घण्टी तो बज रही थी पर फोन नहीं उठा तो पड़ोसी रमेश ने अपने पुत्र छोट्टन से कहा देखो क्या बात है छोट्टन जैसे ही पहुंचा तो देखा कि सभी दरवाजे खुले थे|

अन्दर कुन्डी या सिटकनी नहीं बन्द थी जैसे ही वह अन्दर गया तो वहां का नजारा देख छोट्टन के होश उड़ गये और उसने वहीं से चिल्लाकर अन्य लोगों को बुलाया ग्रामीणों व परिजनों के अनुसार रावत का शव छोटे से आंगन के एक कोने में औंधे मुंह पड़ा था तथा घर के आगंन में पड़े लोहे के जाल में एक पतली रस्सी बंधी थी वह भी टूटी थी बाकी रावत के गले में रस्सी का फन्दा लगा था मामले की जानकारी ग्रामीणों व अन्य परिवारीजनों ने जरिये मोबाईल पिता बच्चूलाल को दी साथ ही मौरावां पुलिस को भी सूचना मिलते ही थाना अध्यक्ष मौरावां मनोज मिश्रा मय फोर्स घटना स्थल पर पहुंचे तथा घटना स्थल की बारीकी से निरीक्षण कर शव को कब्जे में लेकर जरूरी लिखापढ़ी कर शव पोस्ट मार्टम हेतु शव विच्छेदन गृह उन्नाव भेजा गया जहां परिजनों व खण्ड विकास अधिकारी प्रदीप कुमार तथा विकास खण्ड पुरवा अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों के अनुरोध पर पोस्ट मार्टम पैनल द्वारा कराया गया है वहीं मृतक के पिता का कहना है कि मेरे पुत्र की हत्या की गयी है और आत्म हत्या का रूप देनें की कोशिश की गयी है। पिता बच्चूलाल के अनुसार पुत्र जितेन्द्र को मारा गया है जिससे उसकी सीने की हड्डी टूटी है तथा गले में खरोच के निशान पाये गये हैं फिर हाल परिजनों व ग्रामीणों तथा विकास खण्ड के कर्मचारियों ने हत्या की आशंका व्यक्त की है अब रहा सवाल पुलिस जांच पुलिस किस नतीजे पर पहुंचती है यह जांच होनें के बाद ही स्पष्ट होगा। मृतक के एक पुत्री भूमि (3 वर्ष) पत्नी पूनम बहन सुमन माँ चन्दावती पिता बच्चूलाल सहित परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

रिपोर्ट – मो.अहमद (चुनई) 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here