डीएम की कार्रवाई को चुनौती दे रहीं सचिव को आखिरकार छोड़ना पड़ा चार्ज 

जालौन(ब्यूरो)- डीएम की कार्रवाई को सीधे चुनौती देने वालीं एट न्याय पंचायत की सचिव भगवती सोनी को आखिरकार अपना चार्ज छोडना ही पडा। अखण्ड भारत द्वारा उनकी इस मनमानी पर लगातार खबरे प्रकाशित करने के बाद अधिकारियों के दबाव में उन्होंने सोमवार को अपना चार्ज छोड दिया। अब वह महेबा ब्लाक में अपनी कारगुजारियों को अंजाम देगीं। उनकी जगह पर आए नए सचिव ने चार्ज ले लिया है।

गौरतलब है कि एट न्याय पंचायत की सचिव भगवती सोनी पर एक माह पूर्व कमीशनबाजी का आरोप लगा था। न्याय पंचायत के गांव सेंवढी के प्रधान से उन्होंने फोन पर अपना कमीशन मांगा था। जिसका कथित आॅडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसके बाद जिलाधिकारी नरेंद्र शंकर पाण्डेय ने उनका स्थानांतरण डकोर ब्लाक से महेबा ब्लाक में कर दिया था। स्थानांतरण होने के एक महीने बाद भी सचिव भगवती सोनी ने अपना चार्ज नहीं छोडा था। वह सीधे जिलाधिकारी की कार्रवाई को चुनौती देते हुए अपने पूर्व तैनाती स्थल पर ही डटी थीं। इसे लेकर अखण्ड भारत द्वारा लगातार खबरें प्रमुखता से प्रकाशित की गईं। इससे प्रशासन की हरकत में आ गया और उच्च अधिकारियों के दबाव के बाद सोमवार को आखिरकार सचिव भगवती सोनी ने चार्ज छोड दिया। उनकी जगह पर जालौन से आए हरीश राठौर ने चार्ज संभाल लिया है।

सचिव के चार्ज छोडने के बाद स्थानीय जनता ने राहत की सांस ली है और यह उम्मीद जताई है कि शायद अब उन्हें भ्रष्टाचार से मुक्ति मिल सकेगी। वहीं लंबी जद्दोजहद के बाद चार्ज छोड देने से जिले के उच्च अधिकारियों की हो रही किरकिरी भी रूक गई है। गौरतलब है कि इससे पहले भी भगवती सोनी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और आवास के नाम पर रूपया मांगने की बात सामने आई थी। अब वह महेबा ब्लाक में स्थानांतरित कर दी गई हैं। देखना यह है कि वहां पर अब वह अपने किस कारनामे को लेकर चर्चा में आती हैं?

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY