शौच के बाद मिट्टी से हाथ धोना पड़ा महंगा, सर्पदंश के हुए शिकार

0
112

बेगूसराय(ब्यूरो)- सिंघौल ओपी के सिंघौल निवासी बैजनाथ महतो के पुत्र संतोष कुमार (18 वर्ष) गुरुवार की सुबह सर्पदंश का शिकार हो गए| खुले में शौच के बाद हाथ धोने के लिए उन्होंने बिल के पास मिट्टी लेने के लिए जैसे ही हाथ लगाया कि गेहुंवन सांप ने डंस लिया| इसकी जानकारी मिलते ही आसपास के लोग जमा हो गए|

कुछ लोग ओझागुनी से विष झड़वाने की बात करने लगे तो कुछ लोग तत्काल उन्हें एलेक्सिया हॉस्पिटल ले जाने की बात करने लगे| बाद में परिवार के लोग उन्हें एलेक्सिया हॉस्पिटल ले गए जहां डाॅक्टरों ने बिना देरी तुरंत इलाज शुरू किया| उनकी हालत में इलाज से काफी सुधार हुआ है| सर्पदंश की घटना के बाद एक बात तो साफ हो गई है कि लोगों में इतनी जागरूकता आ गई है कि लोग अब झाड़-फूंक के चक्कर में नहीं पड़ रहे हैं|

वह समझ गए हैं कि समय पर और सही जगह अगर इलाज के लिए पहुंच जाया जाए तो सर्पदंश के बाद भी शरीर को विषमुक्त किया जा सकता है| इधर एलेक्सिया हॉस्पिटल के डायरेक्टर डाॅ. धीरज शांडिल्य का कहना है कि समय रहते मरीज को अगर हॉस्पिटल पहुंचा दिया जाए तो उसकी जान बचाई जा सकती है|

रिपोर्ट- आशुतोष कुमार सिंह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here