ट्रक लूटकर चालक की हत्या कर फेंकी गयी थी पन्हर में लाश

0
60
प्रतीकात्मक फोटो

औरैया – कोतवाली क्षेत्र के अन्तर्गत ग्राम पन्हर में नहर पटरी से लगी सड़क पर पायी गयी लाश की पहचान उरई ट्रक चालक रामऔतार के रूप में की गयी। परिजनों ने आकर पहचान की व आशंका जाहिर की कि बदमाश ट्रक लूटने के बाद उसकी हत्या करके लाश यहां फेंक गये होंगे। हालांकि लूटा गया ट्रक बुलंद शहर पुलिस ने बरामद कर लिया हैं जिसकी सूचना पुलिस को दे दी गयी है।

बतां दें कि गत 12 अप्रैल को सुबह पन्हर के समीप नहर पुल के पास सड़क किनारे एक अज्ञात लाश पायी गयी थी। जिसकी सूचना पर पुलिस अधीक्षक रामकिशोर व कोतवाल सुधाकर मिश्रा समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया था। पुलिस की कोशिश के बाद भी उस समय लाश की शिनाक्त नहीं हो पायी थी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद शनिवार को लाश लावारिश मानकर अंतिम संस्कार करा दिया था। इधर समाचार पत्रों में जब यह खबर छपी तो कानपुर देहात अमराहट थाना क्षेत्र के गांव बिलासपुर निवासी मुन्नीदेवी पत्नी कैलाश ने कोतवाली आकर कपड़ों की शिनाक्त अपने भाई रामऔतार पाल उम्र 55 वर्ष पुत्र छेदानाथ पाल निवासी सुशीलनगर उरई जिला जालौन के रूप में की। इसके बाद मृतक के अन्य परिजन भी आ गये। परिजनों ने बताया कि मृतक रामऔतार गुजरात के सूरत से ट्रक संख्या यूपी 78 डीएम 0575 के कपड़ा, कैमिकल, प्लास्टिक दाना आदि सामान लादकर कानपुर के लिए चला था। गत 11 अप्रैल की शाम जब वह आटा जिला जालौन पहुंचा वहां उसने मंदिर पर पूजा की और अपनी पत्नी केसकुअर से मोबाइल पर बात करके बताया कि वह कानपुर जा रहा है। गाड़ी खाली कराने के बाद कल लौटकर घर आयेगा। इसके बाद उससे कोई संपर्क नहीं हो सका। बाद में रामऔतार लापता हो गया। जिसकी गुमशुदगी उरई थाने में दर्ज करायी गयी। इस सम्बन्ध में कोतवाली प्रभारी सुधाकर मिश्रा ने बताया कि 11 मार्च की शाम मृतक ने अपने घर पर बात की। अनुामन है कि इसके बाद वह कानपुर के लिए चला होगा और रास्ते में ही बदमाशों ने किसी गाड़ी से ओवरटेक कर उसे रोक लिया होगा या बदमाश सवारी बनकर गाड़ी में बैठ गये होंगे, जिन्होंने इसकी हत्या कर ग्राम पन्हर के समीप लाश फेंक दी और ट्रक लूटकर फरार हो गये। उन्होंने बताया कि लूटा हुआ ट्रक बुलंदशहर जनपद पुलिस ने लावारिश हालत में बरामद कर लिया है। ट्रक में लदा कपड़ा निकाला जा चुका था। जबकि अन्य कैमिकल व प्लास्टिक दाना आदि लदे हुए थे।

रिपोर्ट- मनोज कुमार

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY