सफेद हाथी साबित हो रहा है बीसीसीएल द्वारा बनाया गया शौचालय

0
178

jarmundi jharkhand

जरमुंडी (ब्यूरो)- भारत कोकिंग कोल लिमिटेड द्वारा सरकारी स्कूलों में बनाया गया शौचालय सफेद हाथी साबित हो रहा है। झारखंड शिक्षा परियोजना द्वारा संचालित जरमुंडी प्रखंड के उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय सिटिक बोना में बनाया गया शौचालय इसका जीवंत उदाहरण है।

विद्यालय परिसर में बने शौचालय का उपयोग निर्माण के बाद अभी तक नहीं हो पाया है। विद्यालय के उप संयोजिका का कहना है कि बीते एक वर्ष से पूर्व बने शौचालय का अभी तक उपयोग नहीं किया जा सका है। वही विद्यालय के सचिव सुरेश राय ने बताया कि एक वर्ष पूर्व बने इस शौचालय को बनाने वाली कंपनी के ठेकेदारों द्वारा इस में ताला लगा दिया गया और तो और छत के ऊपर टंकी रखकर फोटो लेकर कंपनी के लोग टंकी नीचे उतार रख कर चले गए।

उन्होंने कहा कि अब ऐसे में इसका उपयोग कैसे हो सकता है? यहां बता दें कि भारत सरकार स्वच्छ भारत मिशन अभियान चला रही है और वही भारत सरकार की एक कंपनी विद्यालय के शौचालय में तालाबंदी करके इस अभियान को नेस्तनाबूद करने के फिराक में है। साथ ही यह भी बता देते है कि जिस समय शौचालय बनाया गया था उसी समय एक डीप बोरिंग भी स्कूल में किया गया था लेकिन आज तक न तो शौचालय का उपयोग हो सका और ना ही उस डीप बोरिंग में चापाकल  इस स्कूल में नामांकित 70 बच्चे हैं, बच्चे लोगों का कहना है कि पानी पीने के लिए बहुत कठिनाई होती है |

दूर गांव से पानी लाना पड़ता है खाना बनाने वाली की भी यही शिकायत थी कि पानी के बिना बहुत कठिनाई हो रही है| कई बार पदाधिकारियों को कहा गया है लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है | जहां एक तरफ हमारे प्रधानमंत्री स्वच्छता अभियान को लेकर बड़े-बड़े वादा कर रहे हैं कि लोग खुले में शौच करने के लिए न जाए | लोग स्वच्छ पानी पिए हैं ऐसी स्थिति में इस स्कूल के बच्चे क्या करें ना तो इनको पानी मिल रहा है औऱ ना ही शौच के लिए यहाँ पर टॉयलेट की ही व्यवस्था है|
रिपोर्ट- धनंजय कुमार सिंह
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY