योगी सरकार में भय मुक्त समाज के नारे को खाकी उडा रही है धज्जियाँ

0
103

हसनगंज/उन्नाव (ब्यूरो)- कोतवाली हसनगंज कस्बे में रात्रि गश्त पर निकले नशेड़ी सिपाहियों ने घर के बाहर पेशाब कर रहे युवक को लात घूसो से जमकर पिटाई कर बेदम किया। शोर शराबा सुनकर पडोसी व परिजनों ने निकल कर एस पी से शिकायत करने की बात कहने पर मौके की नजाकत देख कर भाग खड़े हुए। खाकी की दबंगई से ग्रामीणों में आक्रोश बना हुआ है।

जहाँ डी जी पी ग्रामीणों व आगंतुकों से सौहार्दपूर्ण व्यवहार करने का पुलिस को फरमान जारी करते हैं। तो वहीं हसनगंज कोतवाली में तैनात आधा दर्जन सिपाहियों व मुंशी की आयेदिन दबंगई के कारनामों का शिकार होने का सिलसिला बातस्तूर जारी है।

हलांकि बीती रात में मधुरभाषी व गम्भीर स्वभाव के जानने पुलिस इंस्पेक्टर धर्मवीर सिंह ने अधिकारियों सहित सम्मानित व्यक्तियों को सौहार्दपूर्ण परिचय देने के लिए भोज पाटीॅ का आयोजन किया। उसी भोज पाटीॅ के बाद रात्रि गश्त के लिए निकले चार सिपाहियों ने शराब में धूत होकर कस्बे में जमकर उत्पात काटा। जिसका नतीजा है कि मोहल्ले में युवक विमल राठौर पुत्र नन्कू राठौर 20 वषॅ घर से निकल कर बाहर नाली में पेशाब कर रहा था तभी दबंग सिपाहियों ने गाली-गलौज करते हुए नजदीक पहुंच गए।

गालियाँ देने से मना करने पर चारों सिपाही आग बबूला हो गए। और युवक को लात घूसो थप्पड़ों से पीटना शुरू कर दिया। युवक के चिल्लाने से पड़ोसियों ने एकजुट होकर इसका विरोध किया। तब भी सिपाही गाली-गलौच कर थाने जबरिया ले जाने लगे। इस पडोसियों ने एस पी शिकायत करने की बात कही तब कहीं चारों नशे में धुत सिपाही होश में आये और बगल में किराए पर रह रहे रमेश रस्तोगी के घर के अंदर चले गए। जबकि कोतवाली में चल रहे भोज पाटीॅ कार्यक्रम से लोग वापस लौट रहे थे रमेश रस्तोगी के किराए के मकान में रहते हैं वही पड़ोस में ही पीड़ित विमल राठौर का मकान है रात दस बजे विमल पेशाब करने के लिए उठा तभी चार पुलिसकर्मी नशे की हालत में पेशाब कर रहे युवक को गाली गलौज करने लगे जिसका युवक ने विरोध किया तो चारो पुलिस कर्मी युवक पर टूट पड़े और बेरहमी से लात घुसो थप्पड़ो से जमकर पिटाई कर दी।

जिसका पड़ोसियों ने जमकर विरोध किया तब कहीं जाकर चारों नशे में धुत सिपाही मकान में घुस गए। सुबह पड़ोसी सावित्री ने पीड़ित विमल राठौर की गर्म पानी से शरीर की सिकाई की जबकि विमल राठौर के माता पिता 15 वर्ष पहले बीमारी के चलते मौत हो गई थी बड़ा भाई गुलाब अपनी ससुराल बांगरमऊ गए थे घर में अकेला विमल राठौर ही था पीड़ित ने चारों सिपाहियों के खिलाफ कोतवाली में लिखित मार पीट की तहरीर दी है।

जबकि डेढ़ पहले क्षेत्रीय विधायक बृजेश रावत के गांव निवासी आफांक बाग का बाकी पैसा दिलाने के लिए कोतवाली में शिकायत की थी। जिस पर कोतवाली का सिपाही अपने को तिवारी दरोगा बताकर पैंतीस सौ रूपये ऐंठ लिये जब पीडि़त ने ग्राम प्रधान पति सत्यनारायण सिंह से सिपाही द्वारा जबरिया पैसा लेने की बात बताई तो सिपाही पीडि़त का हाथ टूटा हुआ था फिर भी खींच कर हवालात में बंद कर दिया। जिस पर हेड दीवान ए के मिश्र के हस्तक्षेप पर पीडि़त शिकायत कताॅ को हवालात से छोड़ा गया।

यहीं हाल पुलिस चौकी इंचार्ज मोहान का हाल है बीबीपुर चिरियारी निवासी एक युवक को अवैध तमंचे के साथ रंगेहाथो पकड़ा बाद में चौकी इंचार्ज सेंगर ने दस हजार रुपये की रिश्वत लेकर चौकी से ही छोड दिया। हसनगंज कोतवाली में तैनात दरोगा सिपाहियों की करतूत की तो महज बानगी है। यहां तो पीडि़त शिकायत कताॅ गुरु प्रसाद निवासी चक्कुशहरी की शिकायत पर सिपाहियों ने चलने के लिए एक हजार रुपये पहले देने की मांग की। पैसा न मिलने पर दबंगों द्वारा कब्जा नहीं छोड़ा गया। योगी सरकार में दबंग मस्त है और जनता खाकी से त्रस्त है।  इस संबंध में हसनगंज कोतवाली प्रभारी धर्म वीर सिंह ने बताया कि मामला मेरे सज्ञान में नही है फिर भी जांच करवा लूंगा।

रिपोर्ट- राजेंद्र आजाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here