भट्ठे से लौटे युवक ने घरेलू कलह से तंग आकर लगाई फांसी, सप्ताह भर पहले भी खाया था ज़हर

0
147

प्रतापगढ़ (ब्यूरों)- घरेलू कहल से तंग होकर युवक ने गांव के पास जंगल मे जाकर महुए के पेड़ से फांसी लगा ली। सुबह जब गांव के कुछ युवक दौड़ लगाने के लिए निकले तो जंगल मे लाश देखकर ग्रामीणों की सूचना दी। ग्रामीणों के सूचना पर पुलिस ने लाश का पंचनामा करके पीएम के लिए भेज दिया।

महेशगज इलाके के माघी गांव का उमेश सरोज (35,वर्ष) पुत्र रामगोपाल अपनी पत्नी राजकुमारी और तीन पुत्रियों रुचि(10वर्ष), मुस्कान (8 वर्ष),और ननका ( 6 वर्ष) के साथ रहता था। करीब बीस दिन पूर्व वह इट भट्ठे से घर आया था। और सप्ताह भर पहले उसने जहरीला पदार्थ खाकर जान देने की कोशिश की थी, लेकिन परिजनो ने उसका इलाज कराकर उसको बचा लिया था।

ग्रामीणों ने बताया कि 8 मई सोमवार की रात खाना खाने के बाद आधी रात को वह चुपचाप घर से निकला और फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली। उमेश के आत्महत्या करने से उसकी पत्नी का रोरोकर बुराहाल हुआ है। और तीन मासूमों के सिर के ऊपर से बाप का साया उठ गया। गांव में इस बात की चर्चा रही कि पिता की मौत केबाद इन मासूमो का जीवन निर्वाह कैसे होंगा??

रिपोर्ट-विश्व दीपक त्रिपाठी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here