असीवन थाना क्षेत्र के अंतर्गत चोरी की बड़ी वारदात, करीब ५० लाख के गहने व नगदी उड़ाए

0
165

bangarmau police
चकलवशी : छत के रास्ते घर के अंदर पहुचें चोरों ने दो कमरों का ताला तोड़कर उसमें रखे सोने चांदी के जेवरात व एक लाख की नगदी सहित तीस लाख का माल पार कर दिया सुबह घर की महिलाओं ने बिखरा सामान देखा तो जानकारी होने पर पुलिस को सूचना दी मौके पर पहुंची पुलिस ने मौका मुआयना कर डाग स्क्वाड को बुलाया लेकिन वह भी कोई सुराग नहीं लगा सका और वापस लौट गयी, पुलिस को किसी नजदीकी का हाथ होने का अनुमान लगा रही है।

आसीवन थाना क्षेत्र के कस्बा हैदराबाद निवासी इन्द्रदेव सिंह पुत्र राज बहादुर सिंह पुराने जमीदार रहे हैं इस लिए उनके पास काफी खेती बाड़ी और आम के बाग है इन्द्रदेव सिंह पूर्व चेयरमैन रह चुके हैं बीती रात वह अपनी पत्नी प्रतिमा सिंह पुत्र शोभित सिंह पत्नी सुषमा सिंह रंजना सिंह पत्नी सौरभ सिंह इनकी दो पुत्रियां रिद्धि व सिद्धी खाना खाने के बाद अपने अपने कमरों में सो रहे थे मध्य रात्रि के बाद घर के पीछे से बास लगाकर छत पर पहुचें चोरों ने आगन के रास्ते नीचे उतरे और कमरे का ताला तोड़कर उसमें घुसे और आलमारी का लाक तोड़ा उसमें से कीमती जेवरात निकालने के बाद दूसरे कमरे का ताला तोड़कर वहां भी अलमारी तोड़ दिया और एक लाख की नगदी सहित सोने चांदी के जेवरात ले फरार हो गए, सुबह जब घर की महिलाएं उठी तो घर का बिखरा सामान देख कर जानकारी हुई तब हैदराबाद चौकी सूचना दी गई लेकिन सौ मीटर की दूरी पर स्थित चौकी के सिपाहियों को वहां तक पहुंचने में तीन घंटे लग गये थाना प्रभारी रनधा यादव मौके पर पहुंचे लेकिन घर के बाहर से ही वापस लौट आए | सी. ओ. बागरमऊ राम अरज भी मौके पर पहुंचे और डाग स्क्वाड को बुलाया लेकिन वह बाहर खेतो तक जाकर वापस लौट आया चोरों ने खाली डिब्बे बाहर खेतो में डाल दिया खाली डिब्बे देखकर गामीणो का अनुमान है कि पचास लाख से ऊपर का माल गया है क्योंकि यह पुराने जमीदारी रहे हैं और इनके पास खेती के आलावा आम के बागीचे भी है वहीं लोगों मे इस बात की चर्चा होती रही कि कस्बे में ही पुलिस चौकी है फिर भी चोरों को इसका कोई भय नहीं रहा अब तक इस थाना क्षेत्र में एक दर्जन से अधिक बड़ी चोरियां हो चुकी है लेकिन पुलिस ने किसी भी घटना का अभी तक खुलासा करने में नाकाम रही जिससे चोरों के हौसले बुलंद हैं और वह पुलिस को खुलेआम चुनौती दे रहे हैं।

रिपोर्ट – अशोक दुबे

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY