कहीं गड़बड़ी मिली तो सम्बन्धित अधिकारी पर होगी कार्रवाई : डीएम

बलिया(ब्यूरो)- जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम ने विकास भवन सभागार में विकास संबंधी योजनाओं व कार्यां की मासिक समीक्षा बैठक की। उन्होंने विभागवार अधिकारियों से जानकारी ली और जरूरी दिशा निर्देश भी दिये।

जिलाधिकारी ने कहा सभी अधिकारी अपने विभागीय योजनाओं को पारदर्शिता के साथ संचालित कर बेहतर प्रगति बनाये रखें। जहां कहीं भी दिक्कत हो, हमारा सहयोग लें। किसी भी सूरत में अगर कहीं गड़बड़ी मिली तो सम्बन्धित अधिकारी पर कार्रवाई होगी। अधिकारियों को भरोसा दिलाया कि सही ढ़ंग से कार्य करेंगे, योजनाओं का संचालन पारदर्शी तरीके से होगा और बेहतर प्रगति बनी रहेगी तो किसी को कोई दिक्कत नही होगी। हमारा पूरा सहयोग रहेगा। यह भी कहा कि अधिकारी अपने विभागीय अद्यतन शासनादेशों की पूरी जानकारी रखें।

बैठक में राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना के बारे में कुछ कार्य अधूरा होने पर एक्सईएन को निर्देश दिया कि अगली समीक्षा बैठक में ये ’अधूरा’ शब्द नही आना चाहिए। कार्य को जल्द पूरा कर अवगत करायें। पोषण मिशन की समीक्षा के दौरान चिन्हित किये गये अतिकुपोषित बच्चों सम्बन्धी ग्रामवार विवरण मांगा। गर्भवती महिलाओं को चिन्हित करने व पोषाहार वितरण पर असंतुष्ट जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी रामभवन वर्मा को योजनाओं का पारदर्शिता के साथ संचालित करने की कड़ी हिदायत दी। कृषि विभाग की योजनाओं की प्रगति के बारे में उप निदेशक कृषि ने बताया। जिलाधिकारी ने एआर कोआपरेटिव को निर्देश दिया कि सहकारी सेंटरों की व्यवस्था में सुधार लायें। पंचायती राज विभाग की समीक्षा के दौरान तेजी से शौचालय निर्माण कराने का निर्देश दिया। स्वच्छता संबंधी अभियान की प्रगति की भी जानकारी ली।

सड़क निर्माण, पेयजल आपूर्ति, तालाब जीर्णोद्धार आदि की भी समीक्षा की। शहीद स्मारक को बेहतर स्वरूप देने की सम्भावनाओं के सम्बन्ध में डीएफओ, एक्सईएन लोनिवि व सिंचाई व उप निदेशक कृषि को निर्देशित किया। मनरेगा कार्यों की गहन समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत वृक्षरोपण के कार्य को युद्धस्तर पर कराने का निर्देश दिया। इसके लिए कार्ययोजना बनाने, कार्यस्थल का चिन्हांकन व फोटोग्राफी कराने को कहा। इस बातर पर बल दिया कि पौधरोपण के बाद पौधों को बचाने के भी कारगर उपाय हों। मुख्यमंत्री जल बचाओं अभियान की प्रगति संबंधी पूछताछ की। उपायुक्त मनरेगा को निर्देश दिया कि इस अभियान के तहत बड़े प्रोजेक्ट के लिए कार्ययोजना बनाकर प्रोजेक्ट मेरी तरफ से अपर मुख्य सचिव को भिजवाएं। रूचि लेकर पहल की जाए तो काफी बड़े कार्य जिले में हो सकते हैं।

समाजवादी पेंशन योजना की जांच के संबंध में बताया गया कि 55 प्रतिशत जांच हो चुकी है। अब तक हो चुकी जांच का पूरा विवरण मांगा। उद्यान अधिकारी सुभाष कुमार को उद्यानिक खेती के प्रति किसानों को प्रेरित करने पर बल दिया। बैठक में सीडीओ संतोष कुमार, अर्थ एवं संख्याधिकारी बब्बन मौर्य, भूमि संरक्षण अधिकारी संजेश श्रीवास्तव समेत जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

विगत तीन वर्षों में बने एमडीएम की होगी जांच-
बाढ़ के दौरान बह गये 28 विद्यालयों में एमडीएम का पैसा जाने पर कड़ी पूछताछ की गयी। जिलाधिकारी ने इस मामले को सीबीआई, प्रमुख सचिव गृह व शिक्षा के यहां भिजवाने का निर्देश सीडीओ को दिया। इसके अलावा बीएसए को निर्देश दिया कि विगत तीन वर्षों में एमडीएम के लिए कितना खाद्यान्न उठा, बच्चों की उपस्थिति व बने एमडीएम का पूरा विवरण दो दिन के अंदर दें। उन्होंने कहा कि इसकी बकायदा जांच होगी, हर सरकारी पैसे का हिसाब होगा और गड़बड़ी मिलने पर जिम्मेदार बख्शे नही जाएंगे। बैठक में सीडीओ संतोष कुमार, सेतु निगम, राजकीय निर्माण के जेई लल्लन यादव समेत अन्य कार्यदायी संस्था के अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here