मेरे सामने मेरी बेटी को गोली मार दी

0
197

मै पिछले काफी दिनो से कैफ़े पर नही गयी थी लेकिन न जाने क्यों उस दिन उसके साथ रहने का मन कर रहा था और मै भी उसके साथ कैफ़े के लिए चल दी, हम रेड लाइट पर सिग्नल पर रुके हुए थे मै कार में उसकी बगल वाली सीट पर पर बैठी हुई थी हमारे चारों तरफ लोग मौजूद थे उन्ही के बीच से अचानक से एक मोटर साईकिल उसकी खिड़की के पास आकर रुकी, उन्होंने आते ही उस पर गोली चला दी एक गोली उसे चीरती हुई मेरी बांह में आकर लगी, मुझे एक और गोली लगी पुलिस के अनुसार वो कार के किसी हिस्से से टकराकर मेरी पीठ में लगी थी उसे ऐसी पांच गोलियां लगी |

sabin apni maa ke sath

मै उससे कह रही थी ” सबीन उठो सुनो तुम्हे कुछ नही होगा हम तुम्हे अस्पताल ले चलेंगे ” हमारा अस्थाई ड्राईवर कार की पिछली सीट पर बैठा था, तुरंत आगे आया और हम उसे नजदीक के अस्पताल में ले गये

अस्पताल में मेरा प्राथमिक इलाज किया गया उसके बाद मुझे दुसरे अस्पताल भेज दिया गया सबीन को खिन और ले जाया गया |

दरसल उसे मुर्दाघर ले जाया गया था और मुझे दुसरे बड़े अस्पताल में |

सबीन सिर्फ मेरी बेटी नही थी वो मेरी प्रेरणा थी, उसने खुद आगे बढकर मेरा तलाक करवाया था उस वक़्त वो सिर्फ साल की थी जब वो कॉलेज से घर आई और बोली “देखो, अगर आप सिर्फ मेरे लिए इस शादी को सह रही हो तो प्लीज ऐसा मत करो ” उसके बाद वो खुद ही वकील से मिली और  कागजी करवाई पूरी करवाई ‘तलाक’ के कागजों पर अपने अब्बू से दस्तखत भी उसने ही करवाए |

लोग के लिए मानवाधिकार कार्यकर्ता और कला की संरक्षक थी, उसे पहले भी कई बार धमकियाँ मिल चुकी थी कि वो जो कार्यक्रम  ( ‘अनसाइलेंसिंग बलूचिस्तान’ ) कर रही है उसके खतरनाक नतीजे हो सकते हैं, पर वो कभी दरी नही जब  किन्ही वजहों से लाहोर विश्वविद्यालय में इस कार्यकर्म पर चर्चा को रद्द करना पड़ा और किसी ने फ़ोन पर पुछा की ये चर्चा उसके कैफे में हो सकती है क्या उसने तुरंत हाँ कर दिया |

शुक्र है उस दिन मै उसके साथ थी, मै देख पाई वो सुकून की मौत मरी थी न कोई चीख, न कोई दर्द और न ही चेहरे पर कोई डर, वो बहुत शांत लग रही थी उसकी मौत गरिमामयी थी वह अंत तक हारी नही | लोग कहते है उसके मरने पर सोशल मिडिया में उसके समर्थकों का सैलाब आ गया था उसके ज़नाज़े में 2 हजार से भी ज्यादा ज्यादा लोग थे और शायद यही उसकी जीत थी |

 

source – बीबीसी हिंदी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

nine + 5 =