बाबागंज ब्लाक की खुद प्यासी अस्पतालें कैसे बुझाएं मरीज, तीमारदारों और कर्मियों की प्यास

0
44
प्रतीकात्मक

प्रतापगढ़(ब्यूरो)- खुद प्यासी अस्पतालों में जाने के बाद मरीज, तीमारदार और खुद डाक्टर ही एक-एक बूद पानी को तरस रहें हैं। पेयजल की कोई व्यवस्था न होने के कारण सभी लोंगो को गांव से पानी लाकर पीना पड़ता है।

बाबागंज ब्लाक की दों अस्पतालों में पेयजल की बहुत बड़ी समस्या है। पीएचसी हीरागंज में जहां आज तक कोई नल नही लगा तो सीएचसी महेशगंज में लगा नल एकदम गंदा पानी उगल रहा है। जिससे अस्पताल आने मरीज, तीमारदार और खुद विभागीय कर्मियों को इस भीषण गर्मी में अपनी प्यास बुझाने के लिए इधर उधर भटकना पड़ता है।

सीएचसी महेशगज में चौबीसों घंटे मरीजो और तीमारदारों का आना जाना लगा रहता है लेकिन अस्पताल में लगें नल द्वारा गंदा पानी देने से लोंगो को पीने लायक पानी नही मिल पाता है। वही करीब एक दशक के बाद भी पीएचसी हीरागंज में कोई भी नल आज तक नही लगा । कई बार विभागीय अधिकारियों को पत्र लिखने के बाद भी अस्पतालों की यह समस्या दूर नही हो रही है।

रिपोर्ट- विश्व दीपक त्रिपाठी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY