ये उप डाक घर केराकत है, कोई बनियाँ की दुकान नहीं-उप डाकपाल

0
115

केराकत (जौनपुर ब्यूरो) : इन दिनों अपनें   कार्यों के प्रति लापरवाही तथा समय से सरकारी आफिस मेंकुछ कर्मचारियों को न आनें के कारण केराकत का उप डाक घर चर्चा में है।इनके ऊपर नाहीं जिले के उच्चाधिकारियों का  कोई डर है नाहीं सरकार के कडे़ कानून का हनक।

बताया जाता है किं उप डाक घर केराकत में आये दिन कभी रजिस्ट्री करानें आए लोगों केसाथ तो कभी भारतीय पोस्टल आर्डर  लेनें  आये जरूरत मन्दों से कहासुनी होता रहता है।दूर -दूर से चलकर इस भीषण गर्मी में आनें वाले लोगों से कभी कम्प्यूटर खराब तो कभी कर्म चारी को खाली नही होनें का बहाना बनाकर  रजिस्ट्री नहीं कीजाती है नतो जरूरत मन्दों को भारतीय पोस्टल आर्डर रहते हुवे नहीं होनें का बहाना बनाकरलौटा दिया जाता है बताया जाता है किं ब्रहस्पति वार को एक जरूरत मन्द नें उप डाक घर केराकत मे जाकर कैशियर से मिलकर 10 रूपये वाला भारतीय पोस्टल आर्डर खरीदना चाहा तो कैशियर लौटूराम नें कहा किं पोस्टल आर्डर नहीं है। जब कि पोस्टल आर्डर उप डाक घर केराकत में मौजूद था।इसकी शिकायत जब जरूरत मन्द आदमी नें वहीं पर मौजूद उप डाक पाल रविन्दर सिंह से कीतो उन्होंने कहा किं क्या यह बनीयाँ किं दुकान है।किं तुरंत दिलवा दूँ अभी रूकिये लोग दो-दो घण्टे खड़े रहते हैं आप कम से कम आधे घण्टे तो खड़े रहो कहकर भारतीय पोस्टल आर्डर दिलवाया गया।उपडाक पाल के इस वाक्य से वहाँ मौजूद लोग दंग रह गये।

रिपोर्ट – अमित कुमार पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here