याकूब की दया याचिका ख़ारिज करने वाले जस्टिस दीपक मिश्र को धमकी भरा खत

0
285
याकूब मेमन फाइल फोटो
याकूब मेमन फाइल फोटो

याकूब मेमन की दया याचिका खारिज करने वाले जस्टिस दीपक मिश्रा की सुरक्षा को गुमनाम धमकीभरा खत आने के बाद उनकी सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। उन्हें दिल्ली पुलिस के कमांडो दिए गए हैं और उनके घर और काफिले को जेड प्लस जैसी सुरक्षा मुहैया कराई गई है। इस मामले में दिल्ली के तुगलकरोड थाने में केस दर्ज किया गया है।

चिट्ठी लिखने वाले ने अपनी पहचान जाहिर नहीं की है। चिट्ठी में जस्टिस मिश्र को कथित तौर पर धमकी दी गई है कि सुरक्षा बढ़ाए जाने की सूरत में भी उनको निशाना बनाया जाएगा। 30 जुलाई की सुबह याकूब को फांसी दिए जाने के ठीक बाद जस्टिस मिश्र और उनके दो सहयोगी जजों की सुरक्षा खतरे की आशंका के मद्देनजर बढ़ा दी गई थी।

जस्टिस मिश्रा समेत बाकी तीन जजों ने याकूब मेमन की फांसी रोकने की अपील याचिका को ठुकराते हुए आधी रात को चली सुनवाई में उनकी फांसी की सज़ा को बरकरार रखा था। जस्टिस मिश्रा, अमिताभ रॉय और प्रफुल्ल पंत ने रात 3 बजे से लेकर सुबह पांच बजे इस मुद्दे पर सोच-विचार कर अपील को ठुकराने का फैसला सुनाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here