भादर ब्लाॅक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव में तीन बीडीसी सदस्यों के हस्ताक्षर फर्जी, बैठक स्थगित

0
138

अमेठी(ब्यूरो)- भादर ब्लाॅक प्रमुख के खिलाफ आये अविश्वास प्रस्ताव को लेकर दाखिल हुए शपथपत्रों में तीन बीडीसी सदस्यों के हस्ताक्षर प्रथम दृष्टया फर्जी पाए गए है। जिसके चलते जिलाधिकारी योगेश कुमार ने आगामी 6 जुलाई को इस संबंध में होने वाली बैठक समेत अन्य प्रक्रियाओं को तत्काल प्रभाव से स्थगित कर दिया है। डीएम ने आगामी 24 जून तक तीन अधिकारियों की कमेटी गठित कर सभी सदस्यों के बारे में परीक्षण रिपोर्ट तलब की है।

करीब सवा साल पहले निर्विरोध चुने गए भादर ब्लाॅक प्रमुख अखिलेश यादव उर्फ विनय की कुर्सी पर सत्ता बदलते ही संकट के बादल मंडराने लगे।दरअसल में सत्ता बदलते ही विपक्षी खेमे के लोग ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने को लेकर बीडीसी सदस्यो को एन-केन प्रकारेण अपने पक्ष में खड़ा करने के लिए जोड़-तोड़ की फ़िराक में जुट गए। जिसके क्रम में वार्ड संख्या 49 (नगरडीह) से बीडीसी चुने गए कृष्ण कुमार जायसवाल व प्रवीण कुमार के नेतृत्व में कुल 62 बीडीसी सदस्यो में से 43 बीडीसी सदस्यों की ओर से बीते 1 जून को शपथपत्र देकर ब्लाॅक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव दाखिल किया गया और जिलाधिकारी से मतदान की तिथि घोषित किए जाने की मांग की गई। फ़िलहाल निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र न होने की वजह से डीएम ने सभी सदस्यों की ओर से पुनः सही प्रारूप पर शपथ पत्र माँगा। उन्होंने सभी बीडीसी सदस्यों की ओर से दाखिल शपथपत्र के संबंध में डीपीआरओ को जांच कर परीक्षण रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया। जिसके उपरान्त परीक्षण रिपोर्ट मिल जाने पर डीएम ने 6 जुलाई के लिए अविश्वास प्रस्ताव को लेकर बैठक एवं आवश्यकता पड़ने पर मतदान की तिथि भी घोषित कर दिया।

इसी बीच ब्लाॅक प्रमुख अखिलेश यादव ने वार्ड संख्या 43 के बीडीसी राकेश कुमार, कोमल दूबे वार्ड संख्या 34 व कल्लन वार्ड संख्या 30 की ओर से प्रार्थना पत्र के साथ शपथ पत्र सम्बन्धित अधिकारी के समक्ष सौंपा और इन तीनों के हस्ताक्षर को फर्जी बताते हुए जांच कराकर कार्रवाई की मांग की।

आरोप के मुताबिक दो सदस्यों की ओर से कृष्ण कुमार आदि ने जिस तारीख में शपथपत्र दाखिल किए है उस तारीख में वह मुम्बई में थे। ऐसे में प्रथम दृष्टया ही इन सदस्यों के हस्ताक्षर को फर्जी मान लिया गया। इसके अलावा निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र प्रस्तुत करते समय कुल 13 बीडीसी ही व्यक्तिगत रूप से उपस्थित रहे,जिसके चलते अधिकारियो का संदेह और बढ़ता गया। जिस पर संज्ञान लेते हुए डीएम ने तत्काल प्रभाव से आगामी 6 जुलाई को होने वाली बैठक समेत अन्य कार्यवाहियों को स्थगित कर दिया है। डीएम ने एसडीएम अमेठी, डीडीओ व बीडीओ की कमेटी गठित कर आगामी 24 जून तक शपथपत्र दाखिल करने वाले सभी सदस्यों के संबंध में जांच करने के उपरान्त परीक्षण रिपोर्ट दाखिल करने के लिए डीपीआरओ को जिम्मेदारी सौंपी है।

ऐसे में ब्लाॅक प्रमुख अखिलेश यादव उर्फ विनय के खिलाफ खड़े हो रहे बीडीसी सदस्य भी अपने नेतृत्व की अपरिपक्वता को देखते हुए उहापोह की स्थिती में नजर आ रहे है और अब ऊंट किस करवट बैठेगा यह सोच पाने में असमर्थता महसूस कर रहे है,इन परिस्थितियों में प्रमुख अखिलेश यादव की कुर्सी पर मंडरा रहे संकट के बादल अब फीके पड़ गये है, जिससे विपक्षी खेमे को बड़ा झटका लगा है।

रिपोर्ट- दीपक मिश्रा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here