पूर्व प्रधान के कार्यकाल की जांच करेगी तीन सदस्यी टीम

0
50

बलिया (ब्यूरो)- प्रधानसंघ के स्वघोषित महासचिव एवं ग्राम पंचायत बभनौली के पूर्व प्रधान त्रिलोकी पाण्डेय के कार्यकाल में कराये गये सरकारी कार्यो की जांच के लिए डीएम तीन सदस्यी समिति कठित कर जांच करने का आदेश दिया है। जिलाधिकारी ने यह आदेश दुबहड़ विकास खंड के ग्राम सभा बभनौली निवासी नरोत्तम पाडण्डेय के शिकायती पत्र का संज्ञान लेते हुए दिया है।

डीएम को सौंपे पत्र में श्री पाण्डेय ने आरोप लगाया है कि ग्राम सभा बभनौली में सत्र 2005 के प्रधान पद के चुनाव में त्रिलोकी नाथ पाण्डेय को गलत गणना कराकर निर्वाचित घोषित कर दिया गया, जिसके सम्बन्ध में उप जिलाधिकारी सदर बलिया के न्यायालय में चुनाव याचिका योजित हुआ और उक्त का निस्तारण होने में प्रधानपद का कार्यकाल ही समाप्त हो गया। जिसके कारण विवादित पूर्व प्रधान त्रिलोकी पाण्डेय द्वारा सरकार द्वारा फर्जी व गलत कागजात के आधार पर विकास निधि का दुरूपयोग करते हुए बन्दर बांट कर लूट लिया गया है।

चूँकि त्रिलोकीनाथ पाण्डेय का असमाजिक व अपराधिक क्षवि के लोगों का एक गोल है, जिसमें कई के ऊपर पुलिस द्वारा कठोर कार्यवाही की गयी और अभी कुछ दिन पहले त्रिलोकी नाथ पाण्डेय के गोल के एक सदस्य को डीएम द्वारा जिला बदर का आदेश किया गया है जो विवादित पूर्व प्रधान त्रिलोकी नाथ पाण्डेय के संरक्षण में ही जिलाधिकारी के आदेश का अवहेलना करके घर पर रह रहा है। विवादित पूर्व प्रधान त्रिलोकी नाथ पाण्डेय के भय व आतंक तथा उसके गोल के लोगों के डर भय-वश उसके द्वारा किये गये विकास निधि की लूट व बंदर बांट की शिकायत किसी के द्वारा नहीं किया गया और वह सत्र 2005 से सत्र 2010 तक ग्राम सभा में विकास कार्यो के लिए आयेघन का आहरण कर कोई विकास कार्य नहीं किया और विकास निधि का लूट करता रहा है।

रिपोर्ट- अजित ओझा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here