दहेज़ लोभी दो सगे भाइयों समेत पांच ससुरालीजनों को तीन-तीन वर्ष का कारावास

0
82

सुल्तानपुर(ब्यूरो)- मोटरसाइकिल व नगदी की मांग न पूरी होने पर विवाहिता को प्रताड़ित करने व मारपीट कर घर से निकाल देने के मामले में एसीजेएम षष्ठम की अदालत ने दहेज़ लोभी दो सगे भाइयों समेत पांच ससुरालीजनों को दोषी करार दिया है। न्यायाधीश अनिल कुमार सेठ ने सभी दोषियों को तीन-तीन वर्ष के कारावास एवं चार-चार हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई है।

मामला गोसाईगंज थाना क्षेत्र के सैफुल्ला गंज से जुड़ा है। जहां की रहने वाली साजिदा बानो ने ससुरालीजनों के खिलाफ अभियोग दर्ज कराया। आरोप के मुताबिक उसकी लखनऊ के गांधीनगर निवासी आदिल खान से तीन अप्रैल वर्ष 2008 में शादी हुई, विवाह के बाद से ही पति-आदिल खान , जेठ-हासिम खान, ससुर-आलम शाह, सास-शहरुल निशा, ननद-सायरा बानो दहेज में मोटरसाइकिल व 25 हजार नगदी की मांग को लेकर प्रताड़ित करने लगे।

दोनों पक्षों में अनबन हुई तो मामला धीरे-धीरे हाईकोर्ट तक पहुंच गया, जहां पर दोनों पक्षों के बीच समझौता हुआ और पुनः साजिदा अपने पति के घर रहने लगी। इस बीच उनके एक पुत्री भी पैदा हुई, लेकिन इसके बाद भी ससुरालीजनों की प्रताड़ना बंद नहीं हुई।

आरोप के मुताबिक सात दिसंबर 2011 को ससुरालीजनों ने साजिदा को मारपीट कर घर से निकाल दिया। इसी मामले का विचारण एसीजेएम षष्ठम की अदालत मे चल रहा था। जिसमें सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष ने अपने साक्ष्यो एवं गवाहों को पेश किया, वहीं बचाव पक्ष ने भी अपने साक्ष्यो को पेश किया। तत्पश्चात न्यायाधीश अनिल कुमार सेठ ने सभी आरोपी ससुरालीजनों को दोषी करार देते हुए तीन-तीन वर्ष के साधारण कारावास एवं कुल 20 हजार रुपए अर्थ दंड की सजा सुनाई है।

रिपोर्ट- दीपक मिश्रा 

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here