ठठेरी बाज़ार डकैती : इनामिया सहित दो अभियुक्त 100 ग्राम सोने के आभूषण संग गिरफ्तार

0
72

वाराणसी(ब्यूरो)- वाराणसी 8 अप्रैल को ठठेरी बाज़ार में हुई ज्वेलरी की दूकान में हुई डकैती ने बदमाशो की मंशा का खुलासा किया था पर बनारस की पुलिस ने इस घटना को अंजाम देने वाले कुछ अभियुक्तों की जल्द ही गिरफ्तारी कर ली। इसी कड़ी में मंगलवार को इस घटना में शामिल एक इनामिया सहित दो लोगों को वाराणसी पुलिस ने 100 ग्राम चोरी के आभूषण संग गिरफ्तार किया ।

8 अप्रैल को हुई दिनदहाड़े डकैती में शामिल दो अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी नितिन तिवारी ने अपने कार्यालय में मीडिया के समक्ष दोनों अपराधियों को पेश किया। उन्होंने बताया कि इस घटना के बाद पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम अपराधियों की धर पकड़ में लग गयी थी। जिसमे सफलता प्राप्त करते हुए कुछ दिन पहले पुलिस ने 4 लोगों को पकड़ा था। उसके बात से लगातार पुलिस अन्य बचे हुए अपराधियों की तलाश में लगी थी।

इसी क्रम में थाना चौक और क्राइम ब्रांच की टीम को आज तडके मुखबिर द्वारा सूचना मिली की दो संदिग्ध व्यक्ति सोने के आभूषण के साथ बेनियाबाग पार्क के दक्षिण की तरफ मौजूद है और किसी का इंतज़ार कर रहे है। इस सूचना पर विश्वास करते हुए क्राइम ब्रांच और चौक पुलिस की संयुक्त टीम ने उसी समय छापेमारी करके बेनियाबाग पार्क के समीप से ठठेरी बाज़ार काण्ड में फरार चल रहे इनामिया आज़ाद अहमद खां, निवासी सूजाबाद थाना रामनगर एवं साहिल सेठ निवासी रामापुरा थाना लक्सा वाराणसी को गिरफ्तार कर लिया।

साहिल ने ही दी थी मुख्य अभियुक्त को दूकान सम्बन्धी सूचना-

पकडे गये अभियुक्त के साहिल सेठ के बार में बताते हुए एसएसपी ने बताया कि साहिल ही वह व्यक्ति है जिसने मुख्य अभियुक्त फैजान को दूकान सम्बन्धी सभी सूचनाएं उपलब्ध कराई थी । जैसा की इसने पूछताछ में बताया है. एसएसपी ने बताया कि इनके अलावा दो अन्य लोग भी है ।जो घटना में शामिल नहीं पर घटना में इन दोनों को ऐड करवाने का काम किया है और इन्हें पुलिस द्वारा पकडवाने का भी काम किया है । हम उनके नाम अभी सबके सामने नहीं ला रहे है । वो कोर्ट में हमारे लिए गवाही भी देंगे ।

दोनों के पास से 22 अदद कान के झुमके बरामद हुए। जिनका कुल वज़न 100 ग्राम है। साथ ही आज़ाद के पास से दो अददा देसी बम भी बरामद हुए थे। जिन्हें पुलिस ने कब्जे में लेकर पानी की बाल्टी में डलवाया ताकि वो निष्क्रिय हो जाएं।

रिपोर्ट- सर्वेश कुमार यादव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY