राशनकार्डों का समय बद्ध सत्यापन कार्यक्रम अधर में लटक गया

0
74

⁠⁠⁠⁠⁠बीघापुर/उन्नाव(ब्यूरो)- ब्लॉक क्षेत्र में राशनकार्डों का समय बद्ध सत्यापन कार्यक्रम अधर में लटक गया है। इस कार्य के लिए बनाई गई सत्यापन कमेटी में लेखपालों ने पहले ही बहिष्कार करने की का ऐलान किया, वही अब ग्रामपंचायत विकास अधिकारियों ने भी कार्य व्यस्तता के कारण सत्यापन कार्य न करने का ज्ञापन खंड विकास अधिकारी को सौंप दिया है।

ग्रामीण क्षेत्र में पात्र गृहस्थी राशन कार्डों के सत्यापन के लिए शासन स्तर से समय बद्ध कार्यक्रम घोषित किया जा चुका है, जिसमें 1 मई से लेकर 13 जून तक डोर-टू-डोर अपात्रों का सत्यापन करके ग्राम पंचायत की खुली बैठकों में अनुमोदन कराते हुए 30 जून तक नई सूची का ऑनलाइन किया जाना है, तथा गांव में छूट गए पात्रों को भी अपात्रों के स्थान पर चयनित किया जाना है।

इस कार्य के लिए प्रत्येक गांव में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी, हल्का लेखपाल, आंगनबाड़ी कार्यकत्री की समिति बनाई गई।

इस गठित समिति में हल्का लेखपालों ने सत्यापन कार्य का बहिष्कार करने की घोषणा पहले की जा चुकी वहीं ब्लॉक बीघापुर के ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों ने खंड विकास अधिकारी को संबोधित ज्ञापन कार्यालय में मौजूद सहायक विकास अधिकारी सुरेश फक्कड़ हो सौंपा है, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी प्रकाश चंद्र, श्री नारायण, ज्ञानेंद्र सिंह, शिव बरन, प्रकाश सिंह ,अतुल अवस्थी ,रूपेश श्रीवास्तव व विभव श्रीवास्तव आदि के हस्ताक्षर द्वारा दिए गए ज्ञापन में कहा गया है, कि जियो टैगिंग, मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अनेक कल्याणकारी कार्यक्रमों व जनता के विशेष कार्य को करने की व्यस्तता रहती है ।

सत्यापन समिति में लेखपाल के बिना 7 बीघा से अधिक भूमि वालों व दो लाख रुपए से अधिक आय वालों का चिन्हांकन किया जाना संभव नहीं है। सत्यापन समिति के सभी सदस्यों के न होने के कारण यह कार्य नहीं किया जाता है । लेखपालों के बाद ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों द्वारा पात्र गृहस्थी राशन कार्ड के समय से सत्यापन का कार्य अधर में लटक गया है।

रिपोर्ट-मनोज सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY