आहरण वितरण अधिकारियों को वित्तीय नियमों व सुरक्षित भुगतान के लिए दिये गये टिप्स

बलिया(ब्यूरो)- कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम सिंह ने समस्त आहरण वितरण अधिकारियों के साथ बैठक कर वित्तीय नियमों व सुरक्षित तरीके से भुगतान के जरूरी टिप्स दिये। कहा कि भुगतान सेवाकाल का बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है। इसमें काफी सावधानी बरतनी होती है। लिहाजा बिल पर दस्तखत करते समय व किसी भी ई-पेमेंट को अप्रूव करते समय ध्यान से उसका मिलान कर लें। समय-समय पर कोषागार से भी आहरण का मिलान करते रहें।
निर्देश दिया कि तत्काल अपना यूजर आईडी पासवर्ड को बदल लें और उसका प्रयोग स्वयं करें। अगर आप सक्षम नही हैं तो अपने कार्यालय के किसी जिम्मेदार से यह कार्य लें। किसी भी परिस्थिति में गैर सरकारी व्यक्ति के पास आहरण वितरण अधिकारी का यूजर आईडी पासवर्ड या कोई चेक नही रहना चाहिए। हर 15 दिन पर ट्रेजरी व बैंक में जाकर स्टेटमेंट भी चेक करते रहें। जहां अभी भी चेक का प्रयोग हो रहा है वहां चेक प्राप्ति की एक पंजिका मेंटेन किया जाए। अधिकारी चेक पर दस्तखत तभी करें जब चेक का विवरण उस रजिस्टर पर दर्ज हो। एक रजिस्टर पर खातों का विवरण भी सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों से कहा कि अपलोडर द्वारा अपलोड किये गये चेक का बकायदा मिलान करने के बाद ही अप्रूव करें। शत प्रतिशत अपने बाबू पर आश्रित न हों। अन्यथा कोई भी गलत भुगतान हुआ तो इसके जिम्मेदार अप्रूवर यानि सम्बन्धित आहरण वितरण अधिकारी होंगे। मुख्य कोषाधिकारी प्रकाश सिंह ने वित्तीय नियमों, किसी भी ईपेमेंट को अप्रूव करने व बिल पर दस्तखत करने से पहले ध्यान देने वाले विन्दुओं के बारे में जानकारी दी। कहा इन सब सावधानियों को बरतें तो निश्चित रूप से नियमानुसार सही भुगतान कर सकेंगे। अपने कार्यालय से सम्बन्धित बजट की मानिटरिंग करते रहें। जहां सरकारी धन कार्यालयों में कैश जमा किये जाते है ऐसे कार्यालयों में कैश काउंटर की व्यवस्था करने के साथ वहां ध्यान देने वाली बातों को बताया गया। अधिकारियों को यह भी बताया गया कि राष्ट्रीयकृत बैंकों में ही सरकारी धन को भेजा जाए। बैठक में अपर जिलाधिकारी मनोज सिंघल, सिटी मजिस्ट्रेट मनोज पाण्डेय, सीएमओ एके श्रीवास्तव सहित अन्य आहरण वितरण अधिकारी मौजूद रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY