कृषि अधिकारी ने धान की नर्सरी लगाने के दिये टिप्स, गरम पानी में न डाले बीज, सायं का समय उचित

बलिया (ब्यूरो) कृषकों द्वारा नर्सरी के बीज जो डाले जा रहे है उसके अंकुरण कम होने की शिकायत की जा रही है। साथ ही क्षेत्रीय कर्मचारियों द्वारा भी क्षेत्र भ्रमण के समय कृषकों द्वारा ऐसी शिकायत करने की बात संज्ञान में लाई जा रही है।

जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव ने बताया है कि कृषकों को तकनीकी सलाह देते हुए नर्सरी की अवधि कम से कम बीस दिन होती है जिसमें से पाच से सात दिन किसी भी फसल के अंकुरण हेतु बहुत ही महत्वपूर्ण समय होता है तथा वर्तमान में वर्षा न होने के कारण तथा तापमान अधिक होने के कारण नर्सरी के लिए जो खेत में पानी लगाया जा रहा है वह सुबह लगाया जा रहा है जिससे वह पानी गरम हो जा रहा है और आपके द्वारा दो दिन छाये में बीज को डालने तथा हल्का पानी डालकर बोरे से ढ़कने के बाद खेतों में अंकुरित बीज से नर्सरी डाली जा रही है।

वह अंकुरित बीज गरम पानी के कारण सुख जा रहा है जिससे बीज जमाव अच्छा नही हो रहा है। नर्सरी के खेत में किसी भी दशा में दिन में पानी न रखें। शाम को पानी भरा जाय तथा उसी समय बीज भी डाला जाय तथा अगले दिन सुबह ही उस खेत में से जो पानी सुरक्षित है तो उसके निकास की व्यवस्था सुनिश्चित किया जाय और पुनः शाम को आवश्यकतानुसार पानी लगाया जाय तो इससे अंकुरित बीज के डूडे जलने से बच जायेगें और आपका जमाव शत प्रतिशत रहेगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here