घर बैठे शौचालय पूरे कराने के लिए सेक्रेटरी ने गरीबों को कोटेदारों से राशन देना कराया बंद

0
52

हसनगंज/उन्नाव (ब्यूरो) – 2 अक्टूबर गांधी जयंती के पहले ओ डी ऍफ़ के अंतर्गत शौचालय निर्माण पूरा कराने के लिए महिला सेक्रेटरी ने ग्राम पंचायतों में कोटेदारों की मिलीभगत से गरीबों राशन न देने का फरमान जारी कर दिया। जिससे बेबस सैकड़ों गरीबों को वारिश के दौरान रोटी का संकट पैदा हो गया है। जब तक शौचालय नहीं बनेगा तब तक राशन नहीं मिलेगा। जिससे कोटेदारों को गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले गरीबों को सरकारी राशन से इस माह में वंचित रहना पड़ेगा।मालूम हो कि सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर दो अक्टूबर तक सभी ग्राम पंचायतों में ओ डी एफ घोषित कर पूरी तरह खुले में शौच से मुक्त कराने का शासनादेश जारी किया है।

जिससे एक सेक्रेटरी के पास दर्जनों ग्राम पंचायतों का चार्ज है।जिसमें घर बैठकर नौकरी करने वाले सेक्रेटरियो के लिए मुसीबत बन गई है। तभी महिला सेक्रेटरी निशा सिंह की मनमानी के चलते आधा दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतों में कोटेदारों से लेनदेन की सेटिंग कर नया फरमान जारी कर दिया है। गरीबों को मिलने वाले सरकारी राशन को अपना अधिकार बताकर जब तक शौचालय नहीं बनवाओगे तब तक राशन नहीं दिया जाएगा। जिससे ओ डी ऍफ़ में ग्राम पंचायतों में तेगापुर, हसनापुर, मौला बाकी पुर, निजामपुर पचिगहना सहित दर्जनों  ग्राम पंचायतों में कोटेदारों ने सेक्रेटरी के आदेश से ग्रामीणों को राशन न मिलने से संकट पैदा हो गया है। सेक्रेटरी के नया आदेश बताकर गांव के 25 फीसदी गरीबों का मिलने वाला अगस्त माह के सरकारी राशन से वंचित रहना पड़ेगा।

ग्रामीणों में ऋषि सिंह, सुनीता, राम देवी, गफ्फार, उमाशंकर, रामनाथ, मदनलाल सिंह, राम बक्स, रामविलास, रामा आदि दजॅनो ग्रामीणों ने बताया कि शौचालय बनने के बाद भी एक सप्ताह से ब्लाक के चक्कर काट रहा हूं। लेकिन सेक्रेटरी नहीं मिलती है।जब हफ्तों बाद सेक्रेटरी पचिगहना गांव आयी तो कोटेदार से मिलकर गरीबों को मिलने वाला राशन को रुकवा दिया। जिससे ग्रामीणों में अधिकारियों की मनमानी पर खासा आक्रोश व्याप्त हो गया है। सेक्रेटरी निशा सिंह ने इस संबंध में बताया यह मेरी मजीॅ है इस पर किसी सरकारी आदेश की जरूरत नहीं है। उल्टे पात्र गृहस्थी के काडॅ धारकों को सूची से नाम कटा देने की धमकी तक दे डाली।ग्रामीणों की माने तो जब तक शौचालय नहीं बनेंगे तब तक इन लोगों को राशन नहीं दिया जाएगा चेतावनी दी। वही इस संबंध में एडीओ पंचायत पारस नाथ उपाध्यय से पूछने पर बताया कि ऐसा कोई आदेश नहीं आया है। शौचालय पूरे कराने के लिए अगर सेक्रेटी ने राशन रुकवाया है। तो गलत है फिर भी जांच कराकर गरीबों को राशन दिलाया जाएगा। कोटेदारों को राशन हजम नहीं करने दिया जायेगा।

रिपोर्ट – राजेंद्र आजाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here