अपने 0-5 वर्ष तक के बच्चो को दो बूंद जिन्दगी की पिलाकर उनका जीवन सुरक्षित करें जिलाधिकारी

0
64

मैनपुरी(ब्यूरो)- पोलियेा जैसी घातक बीमारी से प्रत्येक बच्चे को बचाना हम सबका दायित्व है। इस बीमारी की चपेट में जो भी बच्चा आ जाता है वह दूसरों पर आश्रित रहकर जीवन यापन करने को मजबूर रहता है। इसलिए इस कार्य में लगे सभी अधिकारी, कर्मचारी सुनिश्चित करे कि अब कोई नौनिहाल इस बीमारी की चपेट में न आये उसे प्रत्येक चरण में 02 बूंद जिन्दगी की पिलवाकर प्रतिरक्षित करें।

इस कार्यक्रम से जुड़े अधिकारी कर्मचारी पूरी निष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करें और प्रत्येक चरण में लक्षित बच्चे को दवा पिलवायें, इस अभियान की सफलता ही शत-प्रतिशत बच्चों के दवा पीने पर निर्भर है। उक्त उद्गार जिलाधिकारी यशवन्त राव ने पल्स पोलियो अभियान (बूथ दिवस) के अवसर पर गोला बाजार के बूथ पर अपने कर कमलो से बच्चो को पोलियो ड्राप पिलाने के उपरान्त व्यक्त किये। उन्होने कहा कि लक्षित बच्चों से जितने अधिक बच्चे बूथ दिवस पर दवा पियेगें अभियान उतना ही सफल होगा।

इसलिए कार्यक्रम में लगे सभी अधिकारी/कर्मचारी लगातार क्रियाशील रहकर घर-घर से बच्चों को बूथ पर लाकर दवा पिलवायें, बुलावा टोली लगातार भ्रमण कर बच्चों को बूथ पर लाना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि देश के भविष्य बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने की आवश्यकता है। सभी अभिभावको से कहा कि अपने दायित्वों के प्रति गभ्भीर रहे और अपने 0-5 वर्ष तक के बच्चो को दो बूंद जिन्दगी की पिलाकर उनका जीवन सुरक्षित करें।

मुख्य चिकित्साधिकारी डा. शरद वर्मा ने बताया कि इस अभियान में 334045 लक्षित बच्चों को दवा पिलाये जाने हेतु 981 बूथ स्थापित किये गये है। इसके अतिरिक्त 50 ट्रांजिस्ट बूथ एवं 19 मोबाइल टीमें लगायी गयी है। अभियान की मानीटरिंग हेतु 189 पर्यवेक्षक तैनात किये गये है। बूथ दिवस पर दवा पीने से वंचित बच्चों को घर-घर जाकर दवा पिलाने हेतु 572 टीमें गठित की गयी है।

उन्होने बताया कि 172 ईट भट्टों पर निवास करने वाले परिवारो, 108 घुमन्तु परिवारो के बच्चों को दवा पिलाने हेतु मोबाइल टीमों को निर्देशित किया गया है। इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. रामकिशन आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-प्रमोद झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here