खुले में शौच मुक्त बनाने की कवायद तेज, जिलाधिकारी ने कसे अधीनस्थों के पेंच

0
93


रायबरेली ब्यूरो : जनपद को खुले में शौच मुक्त बनाने के लिए उ0प्र0 सरकार द्वारा लक्ष्य रखा गया है। गंगा के किनारों के गांवों को खुले में शौच मुक्त कराने के लिए पहले से ही यहां सतत् रूप से संचालित कार्यक्रम को अपना मूर्त रूप देने के लिए आप सभी अपने सुनिश्चित कार्यों को गंभीरता से लेते हुए समय से पूरा करने के लिए जुट कर पूरी तरह से कार्य करें। इस कार्य में अगर लापरवाही दिखता है तो उसे किसी भी तरह माफ नही किया जायेगा।

जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने विकास भवन स्थित महात्मा गांधी सभागार में खुले में शौच मुक्त सम्बन्धित बैठक में यह निर्देश दिये। उन्होंने ग्राम विकास अधिकारियों, ग्राम पंचायत अधिकारियों ए0डी0ओ0 पंचायत, खण्ड विकास अधिकारी एवं खण्ड विकास अनुप्रेरकों को निर्देश देते हुए कहा कि समय पर शीघ्र कार्य पूरे करने के लिए पूरी मेहनत करें तभी कार्य पूरा होगा अन्यथा आप के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी । मुख्य विकास अधिकारी हरी राम ने कहा कि आप लोग अपने दिलों दिमांग से कार्य करें। आवंटित गाॅव में दिन रात रूके छुटियां अब कुछ भी नही सिर्फ कार्य करें। उन्होंने बताया कि पूरे उ. प्र. में खुले में शौच मुक्त करने की प्रथा खत्म की जायेगी। रायबरेली पूरा जनपद खुले में शौच मुक्त किया जाना है। उन्होंने स्पष्ट आदेश देते हुए कहा कि आदेशों का पालन अनिवार्य रूप से कड़ाई के साथ पालन किया जाना है। मुख्य विकास अधिकारी ने गंगा किनारे के गिगासों, खजूर गाॅव, भगवानपूर चेटइया गांवों के ए0डी0ओ0 पंचायत ग्राम विकास अधिकारियों से व्यक्गित तौर से उनके कार्यों की समीक्षा कर कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिये। बैठक डी0पी0आर0ओ0 संजय कुमार यादव, परियोजना निदेशक इन्द्रसेन सिंह, जिला विकास अधिकारी आर.एन.सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here