शौचालय निर्माण का कार्य 31 जुलाई तक पूर्ण हो- डीपीआरओ

0
79

मैनपुरी (ब्यूरो)- जिला पंचायत राज अधिकारी सुरेश चंद्र मिश्रा ने घिरोर विकास खण्ड के प्रस्तावित ओ.डी.एफ. गांवों में शौचालय निर्माण के कार्य को देखा और पंचायत सचिवों को निर्देश दिए कि शौचालय निर्माण का कार्य 31 जुलाई तक पूर्ण कर लिया जाए। सभी पंचायत सचिव, सफाई कर्मी, रोजगार सेवक अपनी तैनाती वाले गांवों में 25-25 शौचालयों का निर्माण करायें।

घिरोर विकास खण्ड के ग्राम नाहिली, दारापुर, बुढर्रा, हिम्मतपुर हड़ाई, पचावर गांवों में शौचालय निर्माण के कार्य को देखा गया। हाजीपुर, नगला मांझ, नगला अमरसिंह, हड़ाई नगला पुनू में शौचालय निर्माण काम बंद मिला। इन ग्रामों के पंचायत सचिवों और प्रधानों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गये। दारापुर नगला इंद्र में 47 के सापेछ 24, बुढर्रा में 47 शौचालय पूर्ण मिले। शौचालय निर्माण का काम तेजी से कराने के निर्देश दिए गए ।

हिम्मतपुर हड़ाई के पूर्व माध्यमिक विद्यालय का शौचालय क्षतिग्रस्त पाए जाने पर डीपीआरओ ने सहायक विकास अधिकारी पंचायत राजेश दुबे से नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी स्कूलों और आंगनवाड़ी केंद्रों में शौचालय व्यवस्था चैदहवें वित्त की धनराशि से करने के निर्देश दिए और कहा कि सभी ग्राम पंचायतों की कार्ययोजना में स्कूल और आंगनबाड़ी शौचालय के लिए धनराशि का प्राविधान किया जाए। जिन ग्राम पंचायतों की कार्ययोजना में स्कूल और आंगनवाड़ी शौचालय का प्राविधान नहीं किया गया, उन्हें पास नहीं किया जाएगा।

सफाईकर्मी गांव में काम करते हुए नहीं मिल रहे हैं, उनको बार-बार अवसर नहीं दिया जाएगा। सभी सफाई कर्मियों के पर स्लिप पर गांव के अध्यापक सहित दस लोगों के हस्ताछर होने पर ही वेतन निकलेगा। निरीछण में अनुपस्थित पाए गए सफाई कर्मियों का एक दिन का वेतन काटा जाएगा। बेस लाइन सर्वे न देने वाले पंचायत सचिवों की सूची उपलब्ध कराएं सहायक विकास अधिकारी पंचायत। इन गांवों में लोगों को स्वच्छता के प्रति जानकरी देते हुए डीपीसी नीरज शर्मा ने कहा कि जिले के सभी गांवों को खुले में शौचमुक्त किये जाने का काम चल रहा है। लोग अपने शौचालय खुद बनवाएं इसके लिए सहमति पत्र की व्यवस्था की गई है। सभी विकास खण्डों में माह के प्रथम और तृतीय शनिवार को सहमति पत्र वितरित किये जाते हैं।

गांव वालों को बताया कि सेप्टिक टैंक के शौचालय गांव के पर्यावरणीय वातावरण को प्रदूषित करता है, इसलिए ट्विन पिट वाले शौचालय ही गांव में बनाये जाने के निर्देश हैं। निरीक्षण में सहायक विकास अधिकारी पंचायत राजेश दुबे, पंचायत सचिव सियाराम, प्रताप सिंह, प्रधान चंद्रभूषण, राजेन्द्र सिंह, लवली मिश्रा, मीरा देवी आदि लोग मौजूद रहे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here